Kya khana Chihiye

एड्स के रोगी को किन भोज्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए ?

 

एड्स प्राणघातक बीमारी है ।इससे बचने के लिए व्यक्ति को विभिन्न तरह की सावधानियां बरतने की जरूरत है ।एचआईवी रोगी के लिए कोई विशेष भोजन निर्धारित नहीं किया गया है ।लेकिन संतुलित आहार लेने से इस बीमारी को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। एचआईवी सापेक्ष रूप से रोगी के शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को क्षीण कर देती है। जिसके परिणामस्वरूप व्यक्ति का शरीर  कीटाणुओं से लड़ने के लिए शक्ति पोषक तत्व भोजन  के माध्यम से प्राप्त करता है। संतुलित एवं सेहत के साथ ही , रोगी की ऊर्जा की अभिवृद्धि होती  है ।इसके साथ ही इम्यूनिटी से संबंधित जटिलताओं के निवारण में भी यह संभवत मदद करता है ।  एचआईवी रोगी की इम्यूनिटी बढ़ाने अति आवश्यक है, ऎसे आहार का चयन करें जो रोगों से लड़ने में भरपूर सहायक हो ।

एड्स के रोगी को किन भोज्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए ?

1)एड्स के रोगी को फल एवं सब्जियों को भरपूर मात्रा में लेना चाहिए ।फल और सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है ।इससे रोगी की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है । इसके अतिरिक्त फल एवं सब्जियों में तरह-तरह की मिनरल्स भी पाए जाते हैं। जिनकी आवश्यकता हमारे शरीर को पड़ती है।

2)शारीरिक रूप से स्वस्थ व्यक्ति के लिए प्रोटीन को सीमित मात्रा में देना चाहिए जबकि शारीरिक रूप से दुर्बल व्यक्ति को प्रोटीन  अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। प्रोटीन से हमारे शरीर की मांसपेशियां एवं इम्यून सिस्टम मजबूत होती है ।पोल्ट्री अंडे हेल्दी  बीफ, ,मछली, बीन्स और नट्स आदि का सेवन करे ।

3)एचआईवी के रोगी को साबुत अनाज आहार में लेना चाहिए भूरे चावल की रोटी, गेहूं की रोटी को खाना चाहिए इनमें फाइबर एवं विटामिंस पाए जाते हैं। जब आप प्रचुर मात्रा में फाइबर खाते हैं। तो आपके शरीर में वसा का एकत्रीकरण नहीं हो पाता जो शरीर के लिए हानिकारक होता है।

 

4)एड्स के रोगी को चीनी एवं नमक को कम से कम सेवन करना चाहिए ,क्योंकि दोनों ही शरीर पर विपरीत प्रभाव डालते हैं ।अक्सर देखा गया है, कि एड्स के रोगी को हृदय से संबंधित परेशानी होती है ।ऐसे में चीनी एवं नमक का अधिक सेवन रोगी के लिए नुकसानदायक सिद्ध हो सकता है ।पूर्ण रूप से स्वस्थ रहने के लिए रोगी को  प्रतिदिन चीनी के साथ 10% कैलोरी कम करने का लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए।

5)वैसे वसा का कार्य शरीर को ऊर्जा प्रदान करना है ।लेकिन इसमें कैलोरी उच्च मात्रा में पाई जाती है ।व्यक्ति को यदि अपना वजन कम करना हो तो उसे वसा का सेवन करना कम देना चाहिए। शरीर को स्वस्थ रखने हेतु व्यक्ति को वनस्पति तेल को आहार में शामिल करना चाहिए।

एड्स के रोगी को किन चीजों से सेवन नहीं करना चाहिए ?

1)एचआईवी के रोगी को बहुत अधिक मीठा एवं सॉफ्ट ड्रिंक्स दूरी बना लेना चाहिए। यह काफी हानि कर सिद्ध होता है।

2)कच्चा एवं बहुत अधिक मसालों से युक्त मांसाहारी भोजन   अंडा ,मीट ,मछली शामिल नहीं करना चाहिए क्योंकि एड्स के रोगी का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है ।ऐसी स्थिति में आप अपचित अवशेष भोजन शरीर में संक्रमण को बढ़ा देते हैं।

3)एड्स के दौरान रोगी को तरह-तरह की दवाइयों का सेवन करना पड़ता है  ऐसी स्थिति में रोगी को शराब त्याग देनी चाहिए ।रोगी के शरीर में दवाइयों के साथ शराब मिल जाने पर इसका  विपरीत प्रतिक्रिया शरीर पर पड़ता है ।रोगी को डायरिया होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

4)एड्स पीड़ित रोगी को कच्चे अंडे के सेवन से बचना चाहिए।प्रायः आइसक्रीम बनाते समय भी कच्चे अंडे का प्रयोग किया जाता है। ऐसी स्थिति में को आइसक्रीम खाना भी बंद कर देना चाहिए।

 

Leave a Comment

You cannot copy content of this page