Health Tips Kya khana Chihiye

एड्स के रोगी को क्या खाना चाहिए ?

एड्स रोगी का आहार

एड्स रोगी का आहार : एड्स प्राण घातक बीमारियों में से एक है ।अभी तक इस बीमारी को खत्म करने के लिए कोई सार्थक इलाज संभव नहीं हो सका है। ऐसे में व्यक्ति के पास बहुत ही कम विकल्प बचते हैं ।अपनी जीवन रेखा को बढ़ाने के लिए व्यक्ति तरह-तरह के उपाय कर सकता है। जो काफी हद तक उसके स्वास्थ्य में सुधार लाने में कारगर है। जैसे कि एक अच्छी दिनचर्या बनाकर ,उसका पालन करें ।अपने खाने-पीने की आदतों मैं विशेष रूप से सुधार करें ।क्योंकि आहार का प्रभाव संपूर्ण शरीर पर पड़ता है ।इसलिए बेहद आवश्यक है ,कि हम आहार के रूप में क्या ले ,जिससे कि व्यक्ति का शरीर बीमारी को मात दे सके या उसे नियंत्रित करने में प्रभावी हो

एड्स रोगी का आहार : एड्स के रोगी को क्या खाना चाहिए ?

1. एड्स पीड़ित व्यक्ति को अपने आहार में फल ,सब्जी के साथ ही साबुत अनाज को अवश्य रूप से शामिल करना चाहिए

2.बेहतर स्वास्थ्य के लिए एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए मरीज को भोज्य पदार्थों में लो फैट के साथ ही हाई प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थों और शामिल करना चाहिए। जैसे दूध ,अंडा ,मीट, अखरोट

3.एचआईवी से पीड़ित व्यक्ति को एक आम समस्या जो विशेष रूप से घेर लेती है। उसका वजन पहले की अपेक्षा कम हो जाता है। इसके लिए रोगी को स्टार्च से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए ।जैसे कि आलू ,चावल ,पास्ता यह सर्वाधिक फायदेमंद होता है।

4.रोगी के स्वस्थ होने के लिए आहार के साथ-साथ दिनचर्या भी बेहद महत्वपूर्ण है ।उसे अपने दिनचर्या में खाने-पीने का उचित समय निर्धारित कर लेना चाहिए ।नियत समय पर ही भोजन ग्रहण करना चाहिए ।इसके अतिरिक्त थोड़े -थोड़े अंतराल में कुछ पौष्टिक चीजें खाते रहे ।

5.शीघ्र अति शीघ्र बीमारी पर नियंत्रण करने के लिए रोगी को चाहिए, कि वह आहार में हेल्दी डाइट चार्ट के अनुसार आहार ले। उच्च वसा के लिए ऑलिव आयल या सूखे मेवों का भी सेवन कर सकता है।

6.आहार के साथ-साथ व्यायाम, योग और हल्की-फुल्की एक्सरसाइज को भी अपने दिनचर्या में विशेष रूप से शामिल करें। जिससे कि रोगी की मांसपेशियां स्वस्थ रहे।

यह भी पढें :- चिकन पॉक्स पीड़ित व्यक्ति को अपने आहार में क्या लेना चाहिए ?

एड्स की रोगी को किन भोज्य पदार्थों से पहरेज़ रखना चाहिए ?

1. एड्स के संक्रमण में आए व्यक्ति को भोज्य पदार्थों में अधिक मीठा खाने से बचना चाहिए, साथ ही सॉफ्ट ड्रिंक का सेवन भी ना करें ।इस बात का भी विशेष ध्यान रखें की जिन भोज पदार्थों में शुगर की मात्रा सर्वाधिक हो उसे ना खाएं।

2. एड्स से पीड़ित व्यक्ति को भोजन में पूर्ण रूप से पका कर खाना चाहिए। कच्चा या आज अधपका भोजन रोगी के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। विशेष तौर पर अंडा ,मीट ,मछली ।एचआईवी के संक्रमण से इम्यूनिटी  पावर पहले से की अपेक्षा क्षीण हो जाता है। ऐसे में इन भोज्य पदार्थों के सड़ने से इंफेक्शन के खतरे को बढ़ जाता  है।

3. शराब का सेवन पूर्ण रूप से बंद कर देना चाहिए, क्योंकि एड्स के इलाज के दौरान अल्कोहल का सेवन रोगी के शरीर पर विपरीत प्रभाव डाल सकता है ।इसके अतिरिक्त रोगी को डायरिया की शिकायत हो जाती है ।

4.विभिन्न प्रकार के बीमारियों में अंडे का सेवन अच्छा माना जाता है। परंतु एड्स से पीड़ित व्यक्ति को कच्चे अंडे के सेवन से बचना चाहिए। कभी-कभी ऐसा होता है ,कि व्यक्ति अनजाने में कच्चे अंडे का सेवन कर लेता है ।जैसे कि कुछ आइसक्रीम अंडे से बनती है। अतः खाने से पहले पर कर ले कहीं यह अंडे से निर्मित तो नहीं।

5.वैसे तो एड्स के रोगी को विभिन्न तरह की स्वास्थ्य संबंधी परेशानी घेर लेती है, ऐसे में यदि आप अपना वजन कंट्रोल कर रहे हैं। तो आपको स्वयं के वजन के अनुसार उचित कैलोरी लेनी चाहिए है।

6.एड्स से ग्रसित रोगी को अपने संपूर्ण शरीर की विशेष रूप से ध्यान रखना जरूरी होता है। उसमें ओरल हेल्थ भी शामिल है ।अतः रोगी को नियमित ब्रश ,फ्लॉसिंग एवं जीभ को भी साफ रखें।

7. एड्स जैसी प्राणघातक बीमारी में रोगी को समय-समय पर डॉक्टर से जांच करानी चाहिए ,साथ ही अपनी त्वचा का विशेष रूप से ध्यान रखें

Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

Leave a Comment

You cannot copy content of this page