Health News Trending News Upchar

शुक्राणु बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा और उपचार, जानिए सब कुछ

 Join Telegram Channel Now

शुक्राणु बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा और उपचार, जानिए सब कुछ:- जैसा कि आप जानते हैं, शुक्राणु वीर्य (Sperm) में पाया जाता है और अगर वीर्य में शुक्राणु का स्तर कम जो जाता है तो पुरूष पिता बनने का सुख खो देता है पूरी दुनिया हजारों लोग शुक्राणु की कमी से पीड़ित हैं और लगभग हर दश में से एक व्यक्ति शुक्राणु की समस्या से जूझ रहा है लेकिन आज हम आपको इस आर्टिकल में शुक्राणु बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा और उपाय के बारे में बताएंगे

Sperm Count Badhane Ka Ayurvedic Upay in Hindi

अगर आपको शुक्राणु की कमी होने का लक्षण दिखे तो तुरंत उसका इलाज करवाना चाहिए क्योंकि यह नपुंसकता होने का कारण बन सकता है और शुक्राणु के कमी होने का कई कारण हो सकते है जैसे

  • शराब का सेवन
  • एनाबॉलिक स्टेरॉयड का सेवन
  • स्पर्म इंफेक्शन
  • लगातार शारिरिक संबंध बनाना
  • नशीली दवाओं का सेवन
  • कमजोर या हार्मोन की समस्या

इन चीजों की वजह से शुक्राणु की कमी होने की संभावना ज्यादा होती है। लेकिन इसका समय पर इलाज करवाना बेहद जरूरी है

शुक्राणु समस्या के लक्षण -Symptoms of low sperm count in Hindi

अगर शुक्राणु की कमी किसी व्यक्ति ने होती है तो उनके कई लक्षण होते है। लेकिन सबसे अहम लक्षण यह है कि, पुरुष बच्चा पैदा नही कर सकता है। क्योंकि उनके स्पर्म में शुक्राणु की कमी होती हैं और आप जानते हैं संतान प्राप्ति का सुख प्राप्त करने के लिए शुक्राणु बेहद जरूरी तत्व है

शुक्राणु की संख्या में कमी होने के लक्षण

  • यौन समस्या
  • लिंग में तनाव या अन्य समस्या
  • यूरिन इंफेक्शन
  • यौन संबंध के दौरान समस्या
  • नपुसंकता
  • शरीर के बालों का झड़ना
  • स्पर्म इंफेक्शन

अश्वगंधा से शुक्राणु की सख्या बढ़ा सकते है

  • एक रिसर्च में पाया गया है कि अश्वगंधा (ashwagandha) शुक्राणु बढ़ाने के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है
  • अश्वगंधा कई आयुर्वेदिक दवाओं में इस्तेमाल वाली वाली चीजों में से एक है। और स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक माना जाता है
  • अश्वगंधा कई बीमारियों के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। सबसे बड़ी बात की इसका सेवन करने से आपके शरीर को किसी भी तरह का नुकसान नही होता है

इस्तेमाल कैसे करें

  • इंडियन जिंसेंग पावडर आपको बाजार में आसानी से मिल जाएगा और यह अश्वगंधा पाउडर से भी जाना जाता है।
  • आप अश्वगंधा पाउडर को एक ग्लास दूध में एक या आधा चम्मच मिला लीजिए।
  • आप इस नुस्खे का सेवन दिन में दो बार और एक या दो महीनों तक कीजिए।
  • आप दिन में भी दो बाद इसका सेवन खाली पेट करना चाहिए।
  • आपको बता दें इस नुस्खे का असर आपको धीरे धीरे दिखेगा,इसलिए आपको दो महीने तक सेवन करना है।

शुक्राणु बढ़ाने का आयुर्वेदिक उपाय में से अश्वगंधा काफी फायदेमंद है। और इसमें ऐसे गुण मौजूद होते है जो आपके स्वास्थ्य के लिए काफी जरूरी और लाभदायक है। इसके अलावा अगर आपको शुक्राणु की समस्या लम्बे समय से है तो आप अपने डॉक्टर को बिना लापरवाही किए दिखाना चाहिए। क्योंकि इस बीमारी की लापरवाही नपुंसकता का कारण भी बन सकती हैं।

Read Also

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने शुक्राणु बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा और उपचार, जानिए सब कुछ के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। इसलिए हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Important Link 
Join Our Telegram Channel 
Follow Google News
PhonePe App Download : जाने इस आसान तरीके से आप कमा सकते है हर दिन 300 रुपये

1 Comment

Leave a Comment