B.Ed क्या है जानिए संपूर्ण जानकारी हिंदी में

0

B.Ed क्या है :

एक बच्चे की प्रारंभिक शिक्षा घर से प्रारंभ होती है उसके माता-पिता ही उसके गुरु होते हैं परंतु कुछ वर्षों के बाद बच्चे का किसी ना किसी विद्यालय में प्रवेश लेना होता है उस समय बच्चे के भविष्य का निर्माण का पूरा कार्यभार शिक्षक के ऊपर आ जाता है। इसीलिए शिक्षक को माता पिता से भी ऊपर दर्जा प्राप्त है क्योंकि वही एक अच्छे नागरिक का सृजन करते हैं अच्छे शिक्षक के मार्गदर्शन में ही बच्चे का भविष्य बनता है। अब बात यहां आती है कि क्या शिक्षक बनने के लिए भी कोई पढ़ाई करनी पड़ती है तो जी हां इसके लिए भी और कोर्स होता है जिसे पूरा करके आप शिक्षक के रूप में अपना करियर बना सकते हैं इस कोर्स का नाम है B.Ed  2 वर्षीय कोर्स है। इस कोर्स के अंतर्गत शिक्षक को प्रशिक्षित करने की योग्यता प्रदान की जाती है।

B.Ed Kya Hai जानिए संपूर्ण जानकारी हिंदी में

 जैसा कि आप जानते होंगे कि शिक्षक की भूमिका हर क्षेत्र में होती है क्योंकि शिक्षक की भूमिका बच्चे के नर्सरी मे प्रवेश  से लेकर college स्तर  तक होती है । विद्यार्थी का  मार्गदर्शन का कार्य शिक्षक ही करता है। शिक्षक की आवश्यकता को देखते हुए और शिक्षा पद्धति की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए भारत में एक विशेष डिग्री प्राप्त करना जरूरी होता है । इसके लिए आपको b.Ed की डिग्री प्राप्त करनी होगी। यदि आप सरकारी स्कूल में बतौर शिक्षक के रूप में कार्य करना चाहते हैं तो इसके लिए आपका B.Ed करना आवश्यक है ।सरकार की ओर से यह घोषणा भी की गई है कि वर्ष 2019 तक चाहे सरकारी टीचर हो अथवा निजी सभी के पास B.Ed की डिग्री होना अनिवार्य है ।बीएड 2 वर्षीय कोर्स होता है। इसे करने के लिए आपको कुछ विषयों को B.Ed में चुनकर पढ़ना होता है जैसे कि शिक्षा संस्कृति और मानवमूल्य शैक्षणिक मनोविज्ञान के अतिरिक्त शैक्षणिक मूल्यांकन के साथ ही शिक्षा दर्शन आदि विषय विशेष तौर पर  ध्यान देना होगा। यदि आप b.Ed की डिग्री हासिल कर लेते हैं तो जब चाहे आप किसी प्राइवेट स्कूल में शिक्षण कार्य प्रारंभ कर सकते हैं । अब तक तो आप जान ही चुके होंगे कि बीएड डिग्री प्राप्त कर लेने के बाद आपको कितना फायदा पहुंचता है।

B.Ed Full Form :-

 स्टूडेंट आमतौर पर संक्षिप्त में B.Ed के नाम से पुकारते है जबकि  English में इसका फुल फॉर्म ‘Bachelor Of Education’ इसके साथ ही हिन्दी में ‘शिक्षा में स्नातक’ है जो कि बहुत कम ही लोग जानते होंगे सुविधा की दृष्टि से इसे संक्षिप्त में B.Ed / बी.एड लिखते और पुकारते है।

B.Ed Full Form in Hindi 

B.Ed का नाम तो आपने कई बार  सुना होगा परंतु इसका की फुल फॉर्म के बारे में शायद ही कहीं जानते हो जिसे ‘Bachelor of Education’ के नाम से जानते है। B.Ed एक Post Graduate Course के तहत आता है। इस कोर्स की पढ़ाई करने के दौरान अभ्यर्थी को शिक्षण पद्धति की गुणवत्ता को बढ़ाने के तरीके बताए जाते हैं। इसे पूरा कर लेते ही आप किसी भी प्राइवेट स्कूल में शिक्षण का कार्य शुरू कर सकते हैं। यदि आप भी एक अच्छे शिक्षक बनने की इच्छा रखते हैं तो इसके लिए आपको ग्रेजुएशन अच्छे नंबरों से पास करना होगा उसके बाद B.Ed के 2 वर्षीय कोर्स में दाखिला लेना होगा जिसे पूरा करने के बाद आप शिक्षण क्षेत्र में कार्य करना शुरू कर सकते हैं ।इसके अतिरिक्त और भी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी(B.Ed Full Form in Hindi) नीचे आपको इस ब्लॉग के माध्यम से दी जाएगी

B.Ed के लिए योग्यता :-

विद्यार्थी को B.Ed के कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के लिए आवश्यक रूप से कम से कम योग्यता के तौर पर स्नातक की डिग्री के समतुल्य( बीए, बीकॉम या बीएससी )इनमें से किसी एक डिग्री निश्चित तौर पर हो इसके अतिरिक्त अन्य स्नातक स्तरीय डिग्री में कम से कम 50% अंक विद्यार्थी को प्राप्त करना अनिवार्य है ।स्नातक की डिग्री विद्यार्थी ने किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से प्राप्त की हो।

B.Ed Course Fess

जैसा कि आप जानते होंगे कि B.Ed  वर्षीय कोर्स है। विद्यार्थी इस कोर्स को डिस्टेंस और रेगुलर दोनों में से किसी एक माध्यम से कर सकता है ,परंतु इन दोनों ही पाठ्यक्रम के अंतर्गत शुल्क का प्रारूप अलग -अलग होता है ।यदि आप रेगुलर कोर्स करते हैं तो इसके लिए रेगुलर रूप से कक्षाएं आयोजित की जाती है। इस पाठ्यक्रम के लिए स्टूडेंट को तकरीबन 50 से 70 हजार तक का खर्च वहन करना पड़ता है। वही डिस्टेंस करने वाले स्टूडेंट को एक लाभ यह पहुंचता है कि उन्हें रेगुलर कक्षाएं  आयोजित ना होने के कारण इस कोर्स की फीस रेगुलर की अपेक्षा कम देना होता है। इसके अतिरिक्त यदि स्टूडेंट बीएड किसी सरकारी संस्थान से करता है तो इसमें भी विद्यार्थी की फीस कम लगती है। B.Ed जोकि 2 वर्षीय कोर्स  है । इसकी प्रतिवर्ष फीस ₹32000 आती है ।वहीं 4 वर्षीय बीए -बीएड के विद्यार्थियों के लिए 18500 प्रतिवर्ष रखी गई है। वहीं दूसरी ओर अभ्यर्थी के बीएससी- बीएड कोर्स में प्रवेश लेने पर 20500 रुपए  प्रतिवर्ष निश्चित की गई है।

B.Ed में कौन-कौनसे Courses & Subject होते है

B.Ed में दाखिला लेने के लिए सर्वप्रथम अभ्यर्थी को एक प्रवेश परीक्षा से गुजर ना होगा यह प्रवेश परीक्षा प्रत्येक वर्ष जून या जुलाई के महीने में आयोजित होती है देश में विभिन्न प्रकार के गवर्नमेंट अथवा प्राइवेट कॉलेज या यूनिवर्सिटी के माध्यम से अभ्यर्थी बीएड कर सकता है।

हम आपको आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यदि आप B.Ed करने की योजना बना रहे हैं तो ऐसे में आपको प्रवेश परीक्षा में सर्वाधिक अंक लाने होंगे जिससे कि आपको सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाए। वहां की फीस निजी कॉलेज की अपेक्षा कम होती है

इसके बाद विद्यार्थी को एक अन्य बात का भी विशेष ध्यान रखें कि कॉलेज का चुनाव करते समय आप जिस भी  दाखिला लेने जा रहे हैं उस कॉलेज की मान्यता संबंधी पूरी जांच पड़ताल कर ले।उसके बाद आप दाखिला ले अब एक प्रश्न यह उड़ता है कि B.Ed के लिए वह किस विषय का चुनाव करें आपकी जानकारी के लिए नीचे इससे संबंधित subject की सूची दी गई है इनमें से जिस भी सब्जेक्ट से B.Ed करना चाहें चुनाव कर सकते है।

1.रसायन विज्ञान

2.हिन्दी

3.हियरिंग इम्पेरेड

4.तमिल

5.विशेष शिक्षा

6.कंप्यूटर विज्ञान

7.व्यापार

8.जैविक विज्ञान

9.होम साइंस

10.भौतिक विज्ञान

11.राजनीति विज्ञान

12.गणित

13.भूगोल

14.अंग्रेज़ी

15.अर्थशास्त्र

16.भौतिक विज्ञान

17.शारीरिक शिक्षा

18.प्राकृतिक विज्ञान

यह भी पढ़ें :- B. A. क्या है बी. ए. की डिग्री का क्या महत्व और उपयोगिता विद्यार्थी के जीवन में 

B.Ed collage Admission ( किस collage म एडमिशन ले )

बीएड पाठ्यक्रम के अंतर्गत विद्यार्थी को औपचारिक शिक्षण और प्रशिक्षण प्रदान कराया जाता है जोकि वर्तमान समय में शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए बेहद आवश्यक है इसलिए यदि आप एक शिक्षक बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको किसी अच्छे कॉलेज से B.Ed करना चाहिए आपकी सुविधा के लिए नीचे एक लिस्ट दी गई है जो B.Ed के टॉप 10 कॉलेजों के अंतर्गत आता है।

भारत के टॉप 10 B.Ed कॉलेज स्थित (situated)
1.Lady Shri Ram College for Women NEW DELHI
2.Department of Educational studies (Jamia Millia Islamia University) DELHI
3.Loreto College KOLKATA
4.Department of Education (University of Calcutta) KOLKATA
5.St Xavier’s College of Education PATNA
6. Department of Education (University of Delhi) DELHI
7.Department of Education (Banasthali University) JAIPUR
8. KJ Somaiya Comprehensive College of Education Training and Research MUMBAI
9.Lady Irwin College,  DELHI
10.Amity Institute of Education (Amity University) NOIDA

B.Ed करने के बाद जॉब

B.Ed करने के बाद अभ्यर्थी के लिए शिक्षण कार्य हेतु बहुत सारे विकल्प खुल जाते हैं यदि वह स्कूल में पढ़ाने के इच्छुक है तो वह सरकारी और निजी दोनों ही विद्यालयों में शिक्षक कार्य हेतु आवेदन कर सकता है ।अभ्यर्थी को वेतन उसके पद के मुताबिक प्राप्त होता है। वह जिस पद पर कार्यरत होता है। उसी के अनुसार दिया जाता है ।इसके अतिरिक्त आप यदि आर्थिक रूप से संपन्न है तो ऐसे में आप बताओ और प्रबंधक के रूप में भी कार्य कर सकते हैं यानी कि आप अपना स्कूल खोल सकते हैं। इसकी शुरुआत आप एक छोटे से स्कूल से कर सकते हैं ।जैसा कि बहुत कम लोगों को पता होगा की बैंक नए स्कूल की स्थापना हेतु प्रदान करते हैं ।इसके अतिरिक्त B.Ed की डिग्री प्राप्त कर लेने के बाद और भी अच्छी नौकरी प्राप्त करने के लिए आप मास्टर डिग्री के लिए अप्लाई कर सकते हैं ।आप जानते होंगे स्नातकोत्तर कुछ विशेष पाठ्यक्रम के अंतर्गत आता है। इसे आप B.Ed डिग्री पूरा करने के बाद अप्लाई कर सकते हैं ।क्या आपको पता है कि एम.एड पूरा करने के बाद अभ्यर्थी के पास पीएचडी करने का विकल्प भी मौजूद है।

B.Ed पूरा कर लेने के   के बाद अभ्यर्थी निम्न क्षेत्र में कैरियर बना सकते हैं

1.स्कूल और कॉलेज में शिक्षण कार्य कर सकते है।

2.कोचिंग  केंद्र खोलकर पढ़ा सकते हैं।

3.निजी प्राइमरी स्कूल बतौर  शिक्षक पढ़ना

4.गृह में अध्यापन

5.शिक्षा के क्षेत्र परामर्शदाता के रूप में

6.पब्लिशिंग हाउस में किताबों को प्रकाशित करने के लिए

7.रिसर्च एंड डेवलपमेंट एजेंसियां में भी कार्य कर सकते है

टाइफाइड होने की स्थिति में आहार स्वरूप क्या खाएं।

Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here