Bimari Health Tips

बर्ड फ्लू क्या हैं जानिए इसके लक्षण, क्या यह इस बार और अधिक घातक होगा। 

बर्ड फ्लू क्या हैं जानिए इसके लक्षण, क्या यह इस बार और अधिक घातक होगा।

बर्ड फ्लू क्या हैं : – दोस्तों आज के आर्टिकल में हम आपको बर्ड फ्लू बीमारी के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। साथ ही बर्ड फ्लू के लक्षण बर्ड फ्लू से बचने के उपाय और भी कई महत्वपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल में बताएंगे।  इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

बर्ड फ्लू क्या हैं जानिए इसके लक्षण, क्या यह इस बार और अधिक घातक होगा।

दोस्तों नए साल के साथ-साथ भारत में एक और नई बीमारी ने दस्तक दे दिया है। अभी तक तो भारत कोरोना जैसी महामारी से उभरा ही नहीं था। उससे पहले ही बर्ड फ्लू जैसी महामारी भी सामने आई है। वर्तमान समय में भारत के लगभग 6 राज्यों में बर्ड फ्लू ने अपने पैर पसार लिया है, और देश के कई अलग-अलग जगहों पर बड़ी ज्यादा संख्या में पक्षियों की मृत्यु हो रही है। साथ ही कई अलग-अलग जगहों पर विदेशी प्रवासी पक्षियों की भी मृत्यु हुई है।

बर्ड फ्लू क्या हैं

दोस्तों सामान्य भाषा में कहा जाए तो बर्ड फ्लू का मतलब बहुत समय पहले वाला एक प्रकार का वायरल इंफेक्शन होता है। लेकिन दोस्तों यह इंफेक्शन ज्यादातर पक्षों में ही फैलता है। लेकिन कई अन्य जानवर और मनुष्य को भी उतना ही खतरा है, जितना पक्षियों को है। बर्ड फ्लू या एवियन फ्लू इन्फ्यूजर ए वायरस के द्वारा किए गए एक इंफेक्शन है। जो आमतौर पर पक्षियों और मुर्गियों को संक्रमित करता है। यह महामारी सबसे पहले सन 1957 में पहली बार पक्षियों में पाई गई, और उस समय हजारों की संख्या में पक्षियों की मौत भी हुई थी।

बर्ड फ्लू बीमारी वैसे तो पक्षियों की है। लेकिन इस बीमारी को मनुष्य को भी बहुत ज्यादा खतरा है, और अगर यह बीमारी भारत में थोड़ी ही फैल गई, और इसे सही समय पर काबू नहीं पाया गया तो यह बीमारी कोरोना जैसी महामारी से भी घातक साबित हो सकती है।

बर्ड फ्लू का भारत में असर हो सकता है

200 ज्यादातर लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा है। कि बर्फ्यूक भारत में पहली बार आया है। या यह बीमारी पहले भी भारत में आ चुके हैं। क्योंकि बर्ड फ्लू जैसी बीमारी का नाम पहले भी आपने अपनी सुना होगा 2006 से 2018 तक भारत में बर्ड फ्लू के 255 इंफेक्शन सामने आए। 2006 में बर्ड फ्लू एक बार बहुत तेजी से फैला था, लेकिन बाद में बर्ड फ्लू जैसी महामारी काफी शांत हो गए थे। लेकिन अब वर्तमान समय में वापस बर्ड फ्लू के कई के सामने आ रहे हैं।

भारत में बर्ड फ्लू का असर क्या होगा इसके बारे में तो अभी कुछ नहीं कह सकते हैं। क्योंकि अभी तो भारत में बर्ड फ्लू ने दस्तक नहीं है, और अगर सही समय पर बर्ड फ्लू पर काबू नहीं पाया गया तो यह बीमारी घातक भी हो सकती है, और सामान्य रूप से खत्म भी हो सकती है। इसके बारे में अभी कुछ कह नहीं सकते हैं।

राजस्थान मध्य प्रदेश केरला हरियाणा और हिमाचल प्रदेश अजी राज्य में सैकड़ों हजारों की संख्या में अमृत पक्षी पाए। गए और उन सभी पक्षियों में बर्ड फ्लू का इन्फेक्शन होने की संभावना है।

बर्ड फ्लू से इंसान को क्या खतरा है

दोस्तों वैसे तो आप सभी को पता चल ही गया हैं। बर्ड फ्लू बीमारी 1 पक्षियों की बीमारी है, लेकिन इस बीमारी से इंसान को भी सावधान रहना चाहिए। क्योंकि अगर यह बीमारी इंसान में फैल जाती है, तो यह बीमारी कोरोनावायरस से भी बहुत घातक हो सकती है। क्योंकि बर्ड ब्लू भी एक प्रकार का बहुत बड़ा वायरस है।

इंसानों में बर्ड फ्लू के क्या लक्षण है

बर्ड फ्लू भी एक प्रकार का फ्लू है, और यह इंसान के फेफड़े गले और नाक को प्रभावित करता है। बर्ड फ्लू से संक्रमित होने के बाद व्यक्ति में 2 से 8 दिन तक लक्षण देखने को मिलते हैं। बर्ड फ्लू बीमारी होने के बाद इंसान में पाए जाने वाले लक्षण निम्नलिखित है।

1. छींक आना

2. गले में खराश , दर्द , सुजन

3. नाक बहना

4. सांस लेने में परेशानी

5. आँखों में संक्रमण

6. थकावट

7. मांसपेशियों में दर्द

8. डायरिया

9. सरदर्द

9. खांसी

10. बुखार

11. गले में कफ होना

12. पेट दर्द , या पेट ख़राब होना

दोस्तों अगर आप किसी बर्ड फ्लू संक्रमित पक्षी या संक्रमित पोल्ट्री फॉर्म के संपर्क में आते हैं। तो आप जल्द से अपनी डॉक्टर को बताया, और अपना हेल्थ चेकअप अवश्य करवाएं।

यह भी पढ़ें :- कैंसर के रोगी को किन भोज्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए ?

बर्ड फ्लू से कैसे सावधानी रखे या इसकी रोकथाम के उपाय

बर्ड फ्लू बीमारी से बचने के लिए भी इंसान को सावधानिया रखनी पड़ती है, और अगर आप सही तरह से सभी नियमों का पालन करते हैं। तो आप बर्ड फ्लू जैसी महामारी से बच सकते हैं।

1. अपने हाथों को बार-बार साबुन और पानी से धोएं

2. ज्यादा भीड़ वाली जगह पर जाने से बचें विशेषकर उन जगह पर ना जाएं जहां पर जीवित या मृत तक बर्ड फ्लू संक्रमित पक्षी हो

3. अपने हाथों को बार बार मुंह नाक व आंख पर ना लगाएं

4. पोल्ट्री फॉर्म या उससे संबंधित सभी जगह पर जाने से बचे हैं अपने मुंह पर हमेशा मास्क पहन के रखें

5. अपने आसपास साफ-सफाई का संपूर्ण ध्यान रखें

Leave a Comment

You cannot copy content of this page