Cancer Health News

स्तन कैंसर क्या है ,Breast cancer Symptoms and Causes

स्तन कैंसर क्या है

स्तन कैंसर क्या है , Breast cancer Symptoms and Causes , स्तन कैंसर कुछ लक्षण , स्तन कैंसर के उपचार , स्तन कैंसर में  रोकने मैं कारगर उपाय ,

स्तन कैंसर क्या है :- स्तन कैंसर मनुष्य का शरीर कोशिकाओं से मिलकर बना है। अतः शरीर के किसी भी हिस्से की कोशिकाओं में यदि अचानक से वृद्धि होने लगे तो आगे चलकर यह कैंसर का रूप ले लेता है।वस्तुतः शरीर की कोशिकाएं अपनी आवश्यकतानुसार बढ़ जाती है। परंतु जब यह कोशिकाएं  सतत वृद्धि करने लगती है ,तो कैंसर का स्वरूप ले लेती है।  इस तरह से सन कोशिकाओं में अचानक से अनियंत्रित वृद्धि स्तन कैंसर का मूल कारण है। यह कोशिकाएं निरंतर वृद्धि कर कर एकत्र होकर गांठ का निर्माण करती है ।जिससे चिकित्सीय जगत में कैंसर ट्यूमर कहते हैं।

स्तन कैंसर कुछ लक्षण निम्न है-

  1. स्तन के आकार में अचानक वृद्धि होना।
  2. स्तन के निकट हिस्सों जैसे बांह के नीचे हिस्सो को छूने पर गांठ की आशंका होना।
  3. स्तनों को छूने पर पीड़ा होना साथ ही साथ उसमें से कोई द्रव स्रावित होना।
  4. निप्पल के आगे के  हिस्सों का मुड़ जाना एवं उसके रंगों में भी परिवर्तन होना ।
  5. स्तनों में सूजन महसूस करना।

मुख कैंसर क्या होता है , मुंह के कैंसर के लक्षण, कारण, इलाज

स्तन कैंसर के उपचार-

  1. इसका इलाज कैंसर की अवस्था पर निर्भर करता है इसके तहत कीमोथेरेपी रेडिएशन थेरेपी के साथ ही साथ हार्मोन के द्वारा इलाज एवं आवश्यकता पड़ने पर सर्जरी करना भी शामिल है।
  2. शल्य चिकित्सा भी आज के समय में काफी मददगार साबित हुई है , इस चिकित्सा के अंतर्गत स्तन संधान ऊतको का विस्तृतिकरण , लसिकापवोर्चछेदन  लुम्पेक्टोमी एवं स्तन उच्छेदन आदि शामिल है।
  3. चिकित्सा प्रक्रिया इस के दौरान बाहरी किरण रेडियोथैरेपी एवं वितरण विकिरण चिकित्सा द्वारा इलाज किया जाता है
  4. इस प्रक्रिया में तरह-तरह की दवाएं शामिल है जैसे कि एस्ट्रोजन रसोचिकित्सा  हार्मोन पर आश्रित कीमोथेरेपी एवं एक अन्य विकल्प भी शामिल है बोन हेल्थ।

सवाईकल कैंसर क्या है , लक्षण , इलाज , बचाव व रोकथाम

स्तन कैंसर में  रोकने मैं कारगर उपाय-

  1.  स्तन कैंसर से बचने के लिए व्यक्ति को एक्सरसाइज एवं  योगासन नियमित तौर पर करना चाहिए ।
  2. नमक का उपयोग खाने में कम से कम करना चाहिए।
  3. यदि आप नॉनवेज भोजन करते हैं ,तो रेड मीट खाने से बचे।
  4. ग्रीष्म ऋतु में सूर्य की किरणों से बचे अगर आप बाहर निकले भी तो कोशिश करें ,कि सूर्य की किरणें सापेक्ष रूप से ना पड़े।
  5. बहुत अधिक मात्रा में सिगरेट ,तंबाकू व नशीली पदार्थों का सेवन ना करें।
  6. महिलाओं को गर्भनिरोधक दवाइयों का सेवन डॉक्टर के परामर्श के बाद ही लेना चाहिए।

Leave a Comment