Cancer Health Tips

Cancer Kya Hai | कैंसर क्या होता है इन हिंदी

कैंसर क्या है हिंदी , Cancer Kya Hai , कैंसर क्या होता है इन हिंदी , कैंसर के शुरुआती लक्षण , क्‍यों होता है कैंसर , Cancer Symptoms in Hindi , Cancer Kaise Hota Hai ,

Cancer Kya Hai इन हिंदी :- कैंसर एक ऐसा मात्र रोग है, जिसमें शरीर की समस्त कोशिकाओं का एक समूह गति  से अत्यधिक वृद्धि करने लगता है परिणाम स्वरूप कोशिका का विभाजन नियंत्रण से बाहर हो जाता है । साथ ही साथ कैंसर कोशिकाएं आस -पास पाए जाने वाले स्वस्थ ऊतकों को पर भी अपना प्रभाव डालने लगती है , उसे धीरे-धीरे नष्ट करने लग जाती हैं । अंत में रक्त में प्रभावित होकर पूरे शरीर में चल जाती है, यद्यपि सभी प्रकार के ट्यूमर कैंसर नहीं मानी जा सकते है।

कैंसर से ग्रस्त व्यक्ति के प्रारंभिक लक्षण-

1) यदि व्यक्ति के शरीर में किसी भी अंग का घाव जो पूर्ण रूप से ना भर रहा हो ।

2)काफी समय से यदि व्यक्ति के शरीर के किसी अंग में गांठ हो, परंतु दर्द की अनुभूति ना हो या सूजन हो परंतु दर्द ना हो ।

3)कभी-कभी देखा गया है ,कि स्त्रियों के स्तनों में गांठ या रिसाव होता है।

4)व्यक्ति के मल ,मूत्र ,उल्टी या थूक  में रक्त आना।

5)कैंसर रोगी अंग में जहां गांठ हो वहां अचानक से मस्सों व तिल का तेजी से बढ़ना एवं रंगो में परिवर्तन तथा पुरानी गांठ के पास ही नई गांठ का उभर आना।

6)यदि किसी व्यक्ति का अचानक से वजन घटने लगे, कमजोरी आने लगी तथा अमीनिया की शिकायत होना ।

7) महिलाओं में समानता देखा गया है, कि उनके स्तनों में गांठ पाए विकसित हो जाती है, योनि से अत्यधिक रक्त स्रावित होता है, कभी-कभी महिलाओं में दो महावारी के उपरांत यौन संबंधों के पश्चात तथा 40 से 50 वर्ष की आयु में ही महावारी बंद हो जाने के बाद रक्त स्राव शुरू हो 

कैंसर बचाव एवं रोकथाम:- 

1) धूम्रपान धूम्रपान एवं नशीले पदार्थ का सेवन करने से बचे।

 2) पौष्टिक आहार अपनाएं जैसे कि विटामिन युक्त एवं रेशे वाली सब्जियो का सेवन करे।

3) भोजन को बार-बार गरमाना नही चाहिए , भूनना नहीं चाहिए बचे हुए तेल को बार-बार उपयोग में नहीं लाने चाहिए ।

4) भोजन में नमक की मात्रा कम से कम करनी चाहिए।

 5)अपनी दिनचर्या में व्यायाम को शामिल करना चाहिए।

6) अच्छे वातावरण में जीवन व्यापन करें  वातावरण का असर स्वास्थ्य पर सापेक्ष रूप से पड़ता है

 7)व्यक्ति को जागरूक होना अति आवश्यक है, उसे  प्रारंभिक अवस्था में निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए।

 8)यदि व्यक्ति के मुंह में सफेद दाग या घाव बार-बार हो रहे हो तो डॉक्टर से संपर्क करे।

9) शरीर के जिस हिस्से में गांठ हो रही हो यह होने की आशंका हो तुरंत जांच कराएं।

 10)महिलाओं में भी जागरूकता अवश्य होनी चाहिए जैसे कि स्तनों की जांच का तरीका वह चिकित्सक से स्वयं सीख ले।

11) यदि किसी महिला को दो महामारी के अंतराल यह बीच में बंद होने के उपरांत अधिक रक्तस्राव हो तो तुरंत उसकी जांच करानी चाहिए।

12) यदि व्यक्ति के शरीर में या स्वास्थ्य में कुछ अलग परिवर्तन दिख रहे हो तो उसे हल्के में ना लें।

 13)व्यक्ति को नियमित रूप से परीक्षण कराना कराते रहना चाहिए और चिकित्सक से सलाह लेते रहना चाहिए।

 14) अति महत्वपूर्ण तथ्य है कि यदि प्रारंभिक अवस्था में ही बीमारी का पता चल जाए तो व्यक्ति का शीघ्र स्वस्थ होने की संभावना जल्दी हो जाती है।

Leave a Comment