Kya khana Chihiye

चिकन पॉक्स पीड़ित व्यक्ति को अपने आहार में क्या लेना चाहिए ?

चिकन पॉक्स पीड़ित व्यक्ति को अपने आहार में क्या लेना चाहिए ?

चिकन पॉक्स एक संक्रामक रोग है। मुख्य रूप से यह वेरीसेला जोस्टर वायरस के संक्रमण के कारण फैलता है ।यह  हवा के माध्यम से खांसते या छिकते समय भी जीवाणु स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाता है। व्यक्ति के संक्रमण होने के प्रारंभ में दाने के रूप में उभर  आता है। दानों में तरल पदार्थ धीमी गति से निकलता है। जाने -अनजाने में किसी व्यक्ति के स्पर्श मात्र से ही अन्य व्यक्ति इससे संक्रमित हो जाता है ।यह विशेष रूप से छोटे बच्चों को  होने का खतरा ज्यादा होता है । इसके बचाव के लिए डॉक्टर की सलाह के साथ -साथ रोगी को अपने खानपान विशेष रुप से ध्यान रखना होता है।

चिकन पॉक्स पीड़ित व्यक्ति को अपने आहार में क्या लेना चाहिए ?

1.जल सर्वाधिक पिए

चिकन पॉक्स पीड़ित व्यक्ति को जल का सेवन सर्वाधिक करना चाहिए, क्योंकि इस रोग की गिरफ्त में आते ही रोगी के शरीर में जल की कमी हो जाती है ।शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए शरीर में जल का संतुलन बेहद आवश्यक है ।इसके साथ ही व्यक्ति को तरल पदार्थों का सेवन भी करना चाहिए। पानी के अलावा नारियल पानी से  पेय पदार्थ के रूप में लिया जा सकता है।

2. केले एवं सेब का करे सेवन

चिकन पॉक्स के रोगी को फलों में केले का सेवन बेहद फायदेमंद साबित होता है। केले में कार्बोहाइड्रेट तत्व मौजूद होता है ।इसके अतिरिक्त अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं। ऐसा माना जाता है ,कि विभिन्न प्रकार की दवाइयों को खाकर रोगी की स्वाद लेने की क्षमता में कमी आ जाती है ।ऐसी स्थिति में केला के अतिरिक्त सेब भी स्वाद के ठीक करने में काफी कारीगर सिद्ध हो ता है  ।

3.हरी साग सब्जियों को प्राथमिकता दे

चिकन पॉक्स के रोगी को अधिक से अधिक हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। इसे बनाते समय इस बात का विशेष ध्यान देना चाहिए, कि उसे उसमें तेल का प्रयोग कम से कम हो ।इससे भी बेहतर होगा सब्जियों को उबालकर खाएं ।सब्जियों को चुनाव  करते समय पत्ता गोभी ,गाजर ,फूलगोभी ,शकरकंद ब्रोकली, आलू बींस खा सकते हैं ।सब्जी के अलावा आप सूप के रूप में भी इसका सेवन कर सकते हैं।

4.फलों का जूस बनाकर पीएं

चिकन पॉक्स के रोगी को फलों के सेवन करना बेहद फायदेमंद साबित होता है। चिकन पॉक्स की गिरफ्त में आते ही रोगी के शरीर वायरस से लड़ता है। ऐसे में यह बेहद आवश्यक है, कि शरीर में आहार के रूप में पोषक तत्व पहुंचे। इसके लिए रोगी को खाने में बेहद मुलायम फलों का चुनाव करना चाहिए। जैसे सेब, अंगूर ,केला ,खरबूजा तरबूज इत्यादि ।सामान्य तौर पर देखा गया है कि चिकन पॉक्स से पीड़ित व्यक्ति के मुंह में छाले उभर आते हैं ।ऐसे में फलों का सेवन करना कष्टदायक होता है इससे बचने के लिए व्यक्ति को संबंधित फलों का जूस बनाकर पीना चाहिए।

यह भी पढें :- चर्म रोगी का आहार : चर्म के रोगी को किस प्रकार का आहार के रूप में के रूप में लेना चाहिए ?

चिकन पॉक्स के रोगी को किन भोज्य पदार्थों से परहेज करना चाहिए  ?

 

1.छालों में ना पिए जूस

चिकन पॉक्स के रोगी को यदि छाले से संबंधित समस्या है ।तो ऐसी सिचुएशन में रोगी को खट्टे फलों के जूस का सेवन करने से बचना चाहिए, क्योंकि इसका सेवन करते ही व्यक्ति के छालों में जलन पैदा हो जाती है ।जिससे कि रोगी की परेशानी बढ़ जाती है।

2.डेयरी खाद्य पदार्थों करें परहेज

रोगी को चाहिए कि वह मीट के अतिरिक्त अन्य खाद्य पदार्थ जो विशेष रूप से सैचुरेटेड फैट  पाया जाता है । उसका सेवन करने से बचें, जैसे वसा से भरपूर डेरी प्रोडक्ट का सेवन पूर्ण रूप से बंद कर देना चाहिए। इन खाद्य पदार्थों में सेचुरेटेड सर्वाधिक होता है इससे  रोगी की सूजन उभर आती है ,और आपके पूर्ण स्वस्थ होने में और अधिक समय लग सकता है

3.मसाले से रहित भोजन 

चिकन पॉक्स के रोगी को मसाले से दूरी बना लेनी चाहिए, क्योंकि इसके सेवन से रोगी के मुंह में जलन की अनुभूति होती है ।इसकी खाने के उपरांत रोगी की समस्या पहले की अपेक्षा और बढ़ जाती है। मसालेदार भोज्य पदार्थों में विशेष रुप से चिकन मीट, मछली के अतिरिक्त अन्य किसी भी प्रकार का सूप जिसमें मिर्च का सर्वाधिक उपयोग किया गया हो ऐसे भोज्य पदार्थो का सेवन नहीं करना चाहिए।

4. अमीनो एसिड संयुक्त खाद्य पदार्थ से करें परहेज

कुछ ऐसे भी खाद्य पदार्थ होते हैं जिनमें एमिनो एसिड होता है जिससे वायरस की संख्या में बढ़ोतरी होती है। इसका परिणाम यह होता है कि व्यक्ति और स्वस्थ होने में बहुत दिन लग जाते हैं अतः बेहतर होगा कि आप उन पदार्थों का सेवन ना करें जिसमें अर्जीनाइन सर्वाधिक मात्रा में पाया जाता हूं जैसे कि चॉकलेट फ्री नेट किसमिस बीज मूंगफली आदि। 

Leave a Comment