Corona Virus Trending News

कोरोना वायरस बचाव कैसे करें

कोरोना वायरस बचाव कैसे करें

कोरोना वायरस (COVID-19) के शुरूआती लक्षण, बचाव कैसे करें, कोरोना वायरस के बारें में पाए पूरी जानकारी,कोरोना वायरस का पता चलने पर क्या करें ,कोरोना वायरस से आप अपनी रक्षा कैसे करें। ,कोरोना वायरस बचाव कैसे करें

क्या है कोरोना वायरस:- कोरोना वायरस का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है|

कोरोना वायरस कैसे फैलता है , corona virus kaise failta hai

कोरोना वायरस संक्रमण से सावधानियां :-
यदि ये स्थिति कंट्रोल नहीं होती तो इसके लिए कुछ एहतियात बरते जाने चाहिए। यहां कुछ सावधानियां बताई गई हैं, जिनसे आप कोरोनोवायरस से खुद को बचा सकते हैं
रोगी के संपर्क में आने से पहले और बाद में अपने हाथ धो लें,
डिस्पोजेबल दस्ताने पहनें,
एक सर्जिकल मास्क का उपयोग करें,
व्यक्तिगत जीवन में काम आने वाली वस्तुओं को साफ करें या धोएं,
ध्यान रहें कि सतह किटाणुरहित हो ।

रिपोर्ट के अनुसार इस वायरस से पीड़ित मरीजों की देखभाल कर रहे लोग और डॉक्टर को चार अलग-अलग तरीकों के कंट्रोल से इस वायरस के संपर्क में आने से बचा जा सकता है –

1.) सोर्स कंट्रोल :- इसके अंतर्गत मरीजों को दूसरे लोगों से मिलने की अनुमति नहीं दी जाती जिससे संक्रमण का खतरा कम होता है इसके अलावा सभी लोग को मास पढ़ने की सलाह भी दी जाती है वह अस्पतालों में भी विषय पर पाबंदी लगाई जा सकती है साथ ही है ध्यान रखना जाना चाहिए की बीमार हेल्थ वर्कर कोई भी काम ना करें

2.) इंजीनियरिंग कंट्रोल :- इंजीनियरिंग कंट्रोल इसके पूरे अस्पताल मे पार्टिशन होने चाहिए ताकि लोग सुरक्षित रहें और संक्रमण का खतरा कम हो सके इसके अलावा दूसरा का दोबारा संसार नहीं होना चाहिए साथ ही अस्पताल के हर कोने में साफ सफाई होनी चाहिए

3.) एडमिनिस्टरेटिव कंट्रोल :- सभी मरीजों से सभी मरीजों से समझाने की कोशिश करें इसके अलावा काफी सर्दी से पीड़ित लोगों को मार्क्स बनाने के लिए प्रोत्साहित करें साथ ही इस बात का ख्याल रखना बहुत जरूरी है कि कोरोना वायरस के मरीज दूसरे लोगों से दूरी बना कर खड़ा रहे है

4.) पर्सनल कंट्रोल :- हाथ धोने से लेकर रेस्पिरेटरी हाइजीन तक ये सभी चीजें पर्सनल कंट्रोल में आती है वैसे फेस मास्क जिनका इस्तेमाल बार-बार किया जा सके डाक्टर अथवा हेल्थ वर्कर्स के लिए एक बेहतर विकल्प साबित होंगे इसके साथ ही मरीजों के साथ-साथ खुद का ध्यान रखना

कोरोना वायरस के लक्षण
कोरोना वायरस कैसे फैलता है
कोरोना वायरस के बचाव

Leave a Comment

You cannot copy content of this page