Health Tips Kya khana Chihiye

हेपेटाइटिस बी में क्या खाना चाहिए

हेपिटाइटिस बी : दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल में हेपेटाइटिस बी में परहेज हेपेटाइटिस बी में क्या खाना चाहिए typhoid mein kya khayen kya na khayen वायरल फीवर  हेपेटाइटिस बी बीमारी के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे, इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

हेपेटाइटिस बी में क्या खाएं क्या ना खाएं ?

हेपिटाइटिस बी एक प्रकार की लीवर से से जुड़ी बीमारी है ।इस बीमारी का संक्रमण दूसरों को भी हो सकता है ।प्रारंभिक लक्षणों में व्यक्ति की लीवर में सूजन के साथ ही जलन की अनुभूति होती  है।यह विशेषतः असुरक्षित रूप से यौन संबंध एवं संक्रमित व्यक्ति की सुई किसी अन्य व्यक्ति में इंजेक्ट करने से स्वस्थ व्यक्ति में भी इसका संक्रमण हो जाता है। चिकित्सा जगत में अभी इतनी उपलब्धि मिली है ,कि इस बीमारी का जड़ से समाधान कर सके। परंतु दवाइयों के माध्यम से इस बीमारी को नियंत्रित किया जा सकता है ।और दूसरा प्रभावी तरीका है, कि व्यक्ति अपने डाइट का विशेष तौर पर ध्यान रखें ,जिससे उसे शीघ्र रूप से रिकवरी होने के मौका मिलता है ।

हेपेटाइटिस बी के रोगी को आहार का चयन करते समय इन भोज्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए ?

1.पेय पदार्थों में कॉफी

कॉफी के सेवन से हेपेटाइटिस बी के रोगी  को बहुत राहत पहुंचती  है ।इसके साथ ही यह वायरस की वृद्धि को रोकने में सहायक होता है।

 

2.सब्जियों एवं फलों का सेवन

हेपिटाइटिस से पीड़ित व्यक्ति को फलों एवं सब्जियों के माध्यम से पोषक तत्व प्राप्त होता है। जो शरीर के लिए बेहद आवश्यक होता है ।इसके साथ ही यह रोगाणु को मात देने में भी सहायक सिद्ध होते हैं।

 

3.प्रचूर प्रोटीन युक्त आहार

व्यक्ति को हेपेटाइटिस बी नामक बीमारी  को मात देने के लिए सर्वाधिक प्रोटीन युक्त भोज्य पदार्थ को अपने आहार में शामिल करना चाहिए ,विशेष तौर पर अंडा, सूखे मेवे को इस श्रेणी में रखा गया है ।

 

4.खाने के बीच उचित अंतराल

हेपेटाइटिस से पीड़ित व्यक्ति को अपने खाने-पीने की आदतों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। जैसे कि व्यक्ति को एक समय में थोड़ी-थोड़ी मात्रा में भोजन करें, इस उपाय को करने से शरीर में कमजोरी नहीं आती है।

 

5.निर्जलीकरण से बचे

हेपेटाइटिस के रोगी को शरीर में पानी की कमी होने से बचना चाहिए ,उसे सर्वाधिक पानी पीना चाहिए, जिससे कि शरीर में नमी बने रहे निर्जलीकरण की समस्या ना उत्पन्न हो।

 

हेपेटाइटिस बी से  पीड़ित व्यक्ति को इन भोज्य पदार्थों से पूर्ण रूप से दूरी बना लेनी चाहिए ?

 

 1.फास्ट फूड से करें परहेज

हेपेटाइटिस से पीड़ित व्यक्ति को फास्ट फूड से दूरी बना लेनी चाहिए, क्योंकि यह बीमारी लीवर से संबंधित है ।इनका सेवन करने से लीवर में संक्रमण होने का आसार रहता है।

 

2.कार्बोहाइड्रेट

लीवर से संबंधित रोगी को कार्बोहाइड्रेट भोज्य पदार्थ को सेवन करने से बचना चाहिए, इससे रोगी के स्वास्थ पर बुरा प्रभाव पड़ता है ।

 

3.शर्करा युक्त मिठाई

हेपेटाइटिस के रोगी को मीठे भोज्य पदार्थ के सेवन से परहेज करना चाहिए , यह रोगी के रोग नियंत्रण में बाधा खड़ी करने में सहायक है।

 

4.दूध से निर्मित पदार्थों से बचे

हेपेटाइटिस से पीड़ित व्यक्ति को मिल्क और पनीर मक्खन को सेवन में नहीं लाना चाहिए।

 

5.रेडमीट

मांस का सेवन   रोगी के लिए जोखिम भरा साबित हो सकता है। इसके अतः इसके सेवन से बचें।यह  लीवर के संक्रमण को बढ़ाने में सहायक है।

 

6.शराब का त्याग

लीवर संबंधित होगी शराब का सेवन पूरी तरीके से बंद कर देना चाहिए क्योंकि इसके सेवन से लीवर पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

 

7.मिनरल्स सप्लीमेंट

लीवर से संबंधित रोगी को किसी भी प्रकार का विटामिन  सप्लीमेंट लेने से पूर्व डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए ।

 

8.प्रोसैस्ड खाद्य पदार्थों करे निषेध

 रोगी को प्रोसेस खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए इन खाद्य पदार्थों में किसी भी प्रकार का पोषक तत्व नहीं पाया जाता ,इसके साथ ही या लीवर लीवर में जाकर जटिलता उत्पन्न करने में सहायक होते हैं। अतः यह बेहद आवश्यक है, कि हमें ब्रेड ,चीज एवं अन्य भोज्य पदार्थों में शामिल ना करें।

यह भी पढें :- टी.बी. होने के कारण और टी. बी. से जुड़ी संपूर्ण जानकारी हिंदी में

Leave a Comment

You cannot copy content of this page