Kya khana Chihiye

पिंपल से बचने के लिए हमें क्या-क्या खाना चाहिए

पिंपल से निजात :  दोस्तों आज के मेडिकल में हम आपको पिंपल से कैसे निजात पाया जाता है उसके बारे में विस्तार से जानकारी देंगे इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें

पिंपल से निजात : पिंपल से बचने के लिए हमें क्या-क्या खाना चाहिए ?

चेहरे पर पिंपल्स होने से व्यक्ति की सुंदरता कुछ धूमल सी हो जाती है ।पिंपल्स  के हटने पर ही चेहरे पर असली निखार एवं चमक नजर आती है। हर व्यक्ति की त्वचा में भिन्नता पाई जाती है व्यक्ति का आहार ही त्वचा को पोषण प्रदान करता है । अतः एक अच्छी त्वचा के लिए व्यक्ति को संतुलित आहार लेने की बहुत अधिक आवश्यकता है ।मुंहासे की समस्या मुख्य तौर पर हार्मोन -अल बदलाव के कारण भी होती है ।इसके अतिरिक्त अधिक तनाव ,प्रदूषण ,एवं तेलीय त्वचा भी मुंहासे की समस्या को बढ़ाने में सहायक है। व्यक्ति का खानपान की गलत आदतें मुंहासे होने की की असल वजह है। एक अध्ययन के अनुसार चेहरे पर दाग धब्बे मुंहासे समस्याओं का 70% वजह गलत डाइट है।

यह भी पढ़ें :- पिंपल्स के लक्षण , जानिए विस्तार से हिंदी में

पिंपल से बचने के लिए हमें क्या-क्या खाना चाहिए ?

1)हमें उन भोज्य पदार्थों को आहार में लेना चाहिए, जिससे कि विटामिन ए की मात्रा भरपूर हो। ऐसे पोषक तत्व गाजर ,चुकंदर  पालक एवं बीन्स में पाए जाते हैं ।इनके सेवन से शरीर मे कैरेटोनॉएड्स उत्पन्न होता है। जो कुछ समय उपरांत विटामिन ए में  रूपांतरित हो जाते हैं।

2)पिंपल्स की समस्या के निवारण हेतु चुकंदर बहुत ही अहम भूमिका निभाता है। चुकंदर में विटामिन ए के अतिरिक्त सोडियम कैलशियम , मैग्निशियम एवं विटामिन ई प्रचुर मात्रा में होते हैं। यह त्वचा  के अच्छे स्वास्थ्य  के लिए बेहद कारगर है ।यह शरीर में जमा गंदगी को भी निष्कासित कर देते हैं।

3)कद्दू के बीज विशेष रूप से विटामिन ई एवं जिंक  इसमें विद्यमान होता है ।यह दोनों त्वचा को स्वस्थ रखने में मददगार है। यह चेहरे के दाग धब्बे भी साफ करते हैं।

4)दही के अतिरिक्त प्रोबायॉटिक खाद्य पदार्थ भी पिंपल्स को हटाने में काफी सहायक है। खट्टी गोभी एवं केफिर जो लाइव बैक्टीरिया पाया जाता है। यह आंत को कोसाफ करने में सहायक है। आंत के साफ होते ही त्वचा पर निखार स्वतःआ जाता है।

5)ग्रीष्म ऋतु में त्वचा रूखे पन का शिकार हो जाती है। जिससे कि रुखी और बेजान पड़ जाती है। इससे बचने के लिए खीरा एवं तरबूज का सेवन करना चाहिए ।यह त्वचा में नमी बनाए रखने का कार्य करते हैं।

किन भोज्य पदार्थों को खाने पिंपल्स के दौरान नहीं खाना चाहिए ?

1)चेहरे में मुंहासों की समस्या को बढ़ाने में ब्रेड खाद्य पदार्थ है इस उत्पाद में ग्लूटेन विद्यमान होता है जिससे सिस्टमैटिक इन्फ्लेमेशन होने का कारण होता है। यह संपूर्ण चेहरे पर मुंहासे फैलाता है। 

2)बाजार में तरह-तरह की खाद्य पदार्थ का सेवन हम स्वाद बदलने के लिए करते हैं ।आम तौर पर हम आलू का चिप्स खाना पसंद करते हैं। परंतु बहुत कम लोगों को यह ज्ञात होगा, कि इसके सेवन से मुंहासे बढ़ जाते हैं ।चेहरे में आलू के चिप्स में सर्वाधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है ।जिससे मुंहासे चेहरे पर उभर आते हैं।

3)आजकल हर उम्र के लोगों को मीठे में चॉकलेट का चलन है ।चॉकलेट में शुगर होता है ।जो व्यक्ति के चेहरे पर मुंहासे बढ़ने का कारण है ।इस तथ्य की पुष्टि कई शोध द्वारा भी की जा चुकी है।

4)दूध को तो वैसे संपूर्ण आहार माना जाता है ।परंतु आपको यह जानकर हैरानी होगी ,कि व्यक्ति के चेहरे में मुंहासे होने की एक वजह दूध का सेवन भी है। दूध से बने उत्पाद इन्सुलिनोजेनिक होते हैं ।इसका अभिप्राय है ।जो नियमित तौर पर दूध पीते हैं इसके अतिरिक्त दूध से बने उत्पादों का सेवन करते हैं ।उस व्यक्ति के शरीर में अल्प मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन होता है ।जिसके कारण मुंहासे होते हैं।

5)यदि आप अपने चेहरे पर मुहांसों की दस्तक को रोकना चाहते हैं ।तो इसके लिए आपको सर्वप्रथम सोडा का सेवन करना बंद करना दे होगा।  ज्यादातर खाद्य पदार्थों में हम सोडे का प्रयोग करते हैं ।सोडा में पर्याप्त फ्रक्टोज मात्रा में प्राप्त होता है ।यह एक प्रकार का शुगर होता है। यह त्वचा की सेहत के लिए काफी नुकसानदेह है।

पिज़्ज़ा में सैचुरेटेड फैट प्रचुर मात्रा में होता है जिससे आंतों में सूजन उभर आती है आंखों से संबंधित समस्या मुंहासे को जन्म देती है

6)चाय और कॉफी के सेवन से हमारी त्वचा को हानि पहुंचती है ।चाय और कॉफी में एड्रिनल ग्रंथि की के माध्यम से स्ट्रेस हार्मोन स्रावित होता है। त्वचा का इस पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। कैफीन से बने उत्पाद हमारे नींद में बाधा उत्पन्न करते हैं ।परिणाम स्वरूप ऊतको की क्षतिपूर्ति नहीं हो पाती ,जिससे कि चेहरे पर पिंपल्स  उभर आते हैं।

Leave a Comment