Computer Tips Rs CIT Course

RS-CIT क्या है और RS-CIT करने के फायदे

 Join Telegram Channel Now

RS-CIT क्या है :- दोस्तो आज की डिजिटल दुनिया मे यदि आपको कंप्यूटर चलाना या उसके बारे में आपको ज्ञात नही है। तो ऐसी बहुत सी जगह है। जहां से आपको नौकरी नही मिल पाएगी। आजकल प्रत्येक व्यक्ति कंप्यूटर के बारे जानता है। या नही जानता है तो इसके लिए वह सीख रहा है। प्राइवेट जॉब के लिए आपको कंप्यूटर का नॉलेज होना बहुत ही जरूरी है। रही बात सरकारी की तो अब उसके लिए भी बिना कंप्यूटर नॉलेज के आपको जॉब मिलने वाली नही है।

दोस्तो इन सब बातों का कहने का मतलब सिर्फ एक ही है की आपको कंप्यूटर के बारे में नॉलेज होना बहुत जरूरी है। क्योंकि कंप्यूटर कोर्स अब हर नौकरी में जरूरी भी हो गया है। अब बात करते है। RS-CIT कोर्स की तो इसके बारे में आपने सुना ही होगा। यह एक बेसिक स कंप्यूटर कोर्स है। इस कोर्स को कोई भी व्यक्ति, महिला और बच्चे कर सकते है।

इस कोर्स को करने के लिए आपको ज्यादा पड़ने की आवश्यकता नही है। क्योंकि यदि आप क्लास 5 पास या 10वी पास है। तो आप इस कोर्स को करने के लिए योग्य है। जॉब के लिए प्रत्येक क्षेत्र में अलग अलग कंप्यूटर कोर्स को मागा जाता है। आइये जानते है। RS-CIT कोर्स क्या है? और इसके करने के क्या क्या फायदे है। और कोर्स को कैसे किया जाये। इन सभी प्रश्नों के उत्तर आपको इस आर्टिकल में मिलेंगे।

RS-CIT कोर्स क्या है

  • RS-CIT एक ऐसा बेसिक कंप्यूटर कोर्स है। जिसको को भी साधारण व्यक्ति आसानी से कर सकता है। आप इस डिजिटल दुनिया मे अपनी कैरियर की शुरआत भी कर सकते है।
  • यह कोर्स राजस्थान सरकार के द्वारा प्रमाडित बेसिक कंप्यूटर कोर्स है। राजस्थान सरकार ने इसको 25 अप्रैल 2008 में IT एजुकेशन सेक्टर में लेवल को बढ़ाने के लिये इसकी शुरुआत की थी। RS- CIT कंप्यूटर कोर्स का प्रमाण पत्र लेने के लिए प्रतिवर्ष हजारों की संख्या में लोग इसका एग्जाम देते है। यह परीक्षा Offline होती है। जो व्यक्ति इस परीक्षा को पास कर लेता है उसको कंप्यूटर का प्रमाण पत्र दे दिया जाता है। अभी तक इस कोर्स को करीब 13 लाख छात्र छात्राये पास कर चुकी है।
  • कोर्स को करने के बाद बहुत लोग जॉब भी कर रहे है। RS-CIT एक डिप्लोमा कोर्स पर आधारित परीक्षा है। अब इस कोर्स का होना सभी सरकारी नौकरी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए बहुत जरूरी हो गया है। क्योंकि अब सरकारी विभाग में आने वाली भर्तियों के लिये कंप्यूटर कोर्स अनिवार्य हो गया है। कोर्स के अंदर आपको Microsoft Office से जुड़ी सभी जानकारियां मिलेगी। MS Office में बहुत कुछ सीखने को है। जैसे की Ms-Execl, Ms-Power Point और Ms-World आदि चीजे है। जिनको आप सीख पाएंगे।

RS-CIT का फुल फॉर्म क्या है

ऊपर के पैराग्राफ में मैंने बहुत बार इस सेंटेंस का प्रयोग किया। आप लोग भी कंफ्यूज हो गये होंगे की आखिर यह RS-CIT क्या है। जो लोग राजस्थान राज्य से होंगे उनको शायद इसके बारे में थोड़ा बहुत पता होगा। लेकिन अन्य राज्यो में रहने वाले लोगो को शायद ही इस कोर्स के बारे में पता हो।

RS-CIT

  • R- RAJASTHAN
  • S- STATE
  • C- CERTIFICATE OF
  • I- INFORMATION
  • T- ECHNOLOGY

क्योंकि यह कोर्स राजस्थान राज्य में होता है। अन्य राज्यो के लोग इस कोर्स को नही कर सकते है।

RS-CIT कोर्स को कैसे करे

इस कोर्स को करना बहुत ही आसान है। RS – CIT कोर्स को पास करने के लिए दो परीक्षाये पास करनी होगी। यदि आपने इन दोनो पेपर में पास हो जाते है तो आपको RS-CIT का प्रमाण पत्र मिल जाएगा। यह एग्जाम दो चरण में होता है –

● Internal Exam

● Main Exam

INTERNAL EXAM

RS-CIT का प्रमाण पत्र पाने के लिए सबसे पहले आपको Internal Exam देना होगा। इस परीक्षा को आप ऑनलाइन दे सकते है। ऑनलाइन एग्जाम देते समय आप नकल आदि से बच सकते है। इसकी तैयारी आप घर से ही कर सकते है। किसी बुक स्टाल से आप एक कंप्यूटर बेसिक नॉलेज को खरीद कर इसको घर मे बैठ कर पढ़े।

दोस्तो आपने इसकी अच्छी तैयारी की है। तो आप जरूर ही परीक्षा में 30 में 30 नंबर जरूर ले आएंगे। 30 आने पर आपने RS-CIT परीक्षा के प्रथम चरण को तो पास कर लिया है। अब बात करते है। द्वतिय चरण की

● MAIN EXAM

इंटरनल एग्जाम को पास करने के उपरांत आप मेन एग्जाम देने के लोए योग्य हो जाते है। इस एग्जाम को पास करने के लिए उम्मीदवार को मात्र 70 में 28 नंबर लाने जरूरी होते है। सबसे अच्छी बात की यहाँ पर प्रत्येक प्रशन 2 नंबर का होता है। यदि आपने 14 प्रशनों को सही कर दिया तो इस परीक्षा को पास कर जायेगे।

आपको 28 नंबर लाने के लिए आपको थोड़ी मेहनत ज्यादा करनी होगी। इसके लिये आप RS-CIT बुक को खरीद ले। अब बुक में अंत के 16 चैप्टर को पढ़े। लेकिन इन चैप्टरो में जो सबसे बड़े बड़े प्रशंन हो उनको ही पढ़ना है। साथ ही मे RS-CIT के बुक नोट्स और पुराने प्रशनों को भी एक बार रिविजिन अवश्य कर ले।

RS-CIT एग्जाम को पास करने के लिए कितने नंबर होने चाहिए

आपने RS-CIT के दोनों एग्जाम तो दे दिये। लेकिन आपको पता होना चाहिए की इसके लिये आपको कितने नंबर की जरूरत है। दोनों परीक्षाओं को मिलाकर यह पूरे 100 नंबर की होती है। Main Exam में 70 नंबर केवल राइटिंग टेस्ट के होते है। इसको पास करने के लिए मात्र 28 नंबर चाहिए होते है। इसके अलावा इंटर्नल एग्जाम में 30 नंबर होते है। यहां से आपको कम से कम 12 नंबर की आवश्यकता होती है।

RS-CIT Exam को क्वालीफाई करने के लिए 100 नंबर में से आपको सिर्फ 40 नंबर लाने है।

RS-CIT Computer Course में कौन कौन सा सिलेबस होता है

इस कोर्स में निम्न सिलेबस होते है

  • इंटरनेट एप्लीकेशन
  • कंप्यूटर का परिचय
  • इंटनेट का परिचय
  • ऑपरेटिंग सिस्टम
  • माइक्रोसॉफ्ट वर्ड
  • कंप्यूटर का उपयोग
  • माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक
  • माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल एडवांस
    कंप्यूटर एडमिनिस्ट्रेशन

RS-CIT कोर्स को करने के फायदे

कोर्स को करने के बहुत फायदे है जिनमे से कुछ फायदे इस प्रकार है।

  • IT और कंप्यूटर के क्षेत्र में बहुत सारी जानकारियां इकट्ठा कर सकते हैं।
  • इस कोर्स को करने के बाद आप प्राइवेट और सरकारी क्षेत्र में नौकरी को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।
  • आपके व्यक्तित्व जीवन मे कार्य करने की क्षमता में काफी सुधार देखने को मिलेगा।

Conclusion

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको आरएससीआईटी के बारे में विस्तार से जानकारी दी है साथ ही हमने आपको आरसीटी की फुल फॉर्म और आरक्षण की कोर्स करने के फायदे कौन-कौन थे उसके बारे में भी बताया है इसलिए आशा करता हु अब आपको RS-CIT कोर्स के बारे के पूरी जानकारी मिल गयी होगी।

Important Link 
Join Our Telegram Channel 
Follow Google News
PhonePe App Download : जाने इस आसान तरीके से आप कमा सकते है हर दिन 300 रुपये

Leave a Comment