Fruits

सीताफल के फायदे और सीताफल की सेवन का उचित समय

सीताफल के फायदे

सीताफल के फायदे :  दोस्तों आज हम आपको सीताफल खाने के फायदे के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें

सीताफल के फायदे और सीताफल की सेवन का उचित समय

सीताफल को एक औषधि फल माना जाता है। कई प्रकार की औषधि उपचार के तौर पर काम लिए जाने वाला शरीर के लिए फायदेमंद फल माना जाता है। सीताफल में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व और विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। शरीर के लिए कई आवश्यक निर्देश भी सीताफल में पाए जाते हैं। सीताफल के निरंतर सेवन से खून की कमी दूर होती है और कई घातक बीमारियां जिनका समाधान सीताफल के सेवन से होता है। सीताफल को अपनी डाइट में शामिल करना आवश्यक है। यह एक औषधि फल है जो शरीर के लिए हर तरीके से फायदेमंद है। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से सीताफल के सेवन से क्या फायदे होते हैं। उनके बारे में जिक्र करेंगें।

सीताफल के फायदे

1. सीताफल के सेवन से शरीर को कई प्रकार के पोषक तत्व मिलते हैं। जो प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने में सहायक है। साथ ही शरीर की सफेद रक्त कणिकाओं के लेवल को नियंत्रित रखते हैं।

2. सीताफल में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। जो शरीर की रेडिकल कोशिकाओं से लड़ने में मददगार है। यह रेडिकल कोशिकाएं एक प्रकार के कैंसर कोशिका है। सीताफल के सेवन से कैंसर की कोशिकाओं की वृद्धि रुक जाती है और कैंसर जैसी घातक बीमारी से राहत मिलती है।

3. सीताफल का सेवन करने से आपके शरीर में कम कैलोरी मिलती है। लेकिन आपका पेट भर जाता है। ऐसा करने पर यदि आप मोटापे की शिकार है। तो आपके शरीर का मोटापा आसानी से चला जाएगा।

4. शरीर में खून की कमी के कारण एनीमिया रोग होता है। यह एक घातक बीमारी है। जो सीताफल के निरंतर सेवन से दूर होती है। क्योंकि सीताफल में आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जो शरीर में खून की कमी को दूर करती है। साथ ही शरीर मैं खून की एक महत्वपूर्ण इकाई प्लेटलेट्स में वृद्धि करती है।

5. सीताफल के सेवन से गठिया जैसी बीमारियां दूर होती है। साथ ही सीताफल में मैग्नीशियम और कैल्शियम पाया जाता है। जो हड्डियों को मजबूत करके जोड़ो व घुटनों के दर्द से राहत प्रदान करता है।

6. गर्भवती महिलाओं के लिए सीताफल का सेवन करना बहुत ज्यादा लाभदायक माना जाता है। क्योंकि गर्भवती महिलाएं जिनमें कई प्रकार के पोषक तत्व की आवश्यकता होती है। गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी कई प्रकार के पोषक तत्व की जरूरत होती है। जिनकी पूर्ति सीताफल से की जा सकती है। इसके अलावा शरीर में हीमोग्लोबिन का लेवल बना रहता है। जो भ्रूण में रक्त संचरण को नियंत्रित करता है।

7. सीताफल की रोजाना सेवन से आंखों की रोशनी तेज बनती है। यदि आपकी आंखें खराब है,फिर भी आप सीताफल का रोजाना सेवन करें। ऐसे में आपके आंखों के नंबर उतर जाते हैं।

8. लो कैलोरी तथा एंटी हाइपोग्लाइसेमिक तत्व उपस्थित होने के कारण यह फल शुगर लेवल को कंट्रोल लगता है। साथ ही इस फल में उपस्थित सोडियम और पोटेशियम कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियमित रख के हृदय संबंधित कई प्रकार की बीमारियों से मुक्ति दिलाते हैं।

9. सीताफल में फाइबर अधिक मात्रा में पाए जाते हैं जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाते हैं। साथ ही पाचन क्रिया संतुलित रखते हैं और पेट संबंधित कई प्रकार की बीमारियां जैसे:- एसिडिटी इत्यादि से छुटकारा दिलाने में सहायक है।

10. सीताफल के निरंतर सेवन से दांत स्वस्थ रहते हैं और मजबूत होते हैं। इसके अलावा मसूड़ों के दर्द से भी छुटकारा मिलता है और मसूड़ों की मांसपेशियां मजबूत होती है।

11. गर्मी के समय में हर कोई व्यक्ति पिंपल्स का शिकार हो जाता है और ऐसे में सीताफल के सेवन से इन फुंसियों से छुटकारा मिलता है। सीताफल शरीर मे ठंडक प्रदान करवाता है।

12. सीताफल के सेवन से बालों के झड़ने की समस्या भी दूर होती है। तथा बालों में चमक और शाइनिंग बनी रहती है।

13. सीता फल में विटामिन सी और विटामिन ए उपस्थित होते हैं। जो रतौंधी और स्कर्वी जैसी बीमारियों से छुटकारा दिलाने में सहायक है।

14. इस फल के सेवन से शरीर को कार्बोहाइड्रेट अत्यधिक मात्रा में मिलती है। जो शरीर को ऊर्जावान रखने में सहायक है।

यह भी पढ़ें :- झरबेर खाने के फायदे और झरबेर खाने का उचित समय

सीताफल की सेवन का उचित समय

सीताफल का सेवन आप सुबह नाश्ते में कर सकते हैं। इसके अलावा सीताफल के जूस का सेवन आप भूखे पेट भी कर सकते हैं। सीताफल का सेवन लंच के खाने के साथ करना भी उचित मांना जाता है। हालांकि इस फल का नाश्ते में सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है।

Leave a Comment