Computer Tips

Tally क्या है पूरी जानकारी हिंदी में।

Tally क्या है पूरी जानकारी हिंदी में।
Tally क्या है : दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल में Tally के बारे में विस्तार से बताएंगे। इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Tally क्या है पूरी जानकारी हिंदी में।

टैली एक प्रकार का अकाउंटिंग कोर्स है। जिसको आप किसी भी इंस्टिट्यूट से सीख सकते हैं। इस course को सीखने के पश्चात आप अकाउंटिंग का कार्य जैसे बिलिंग जीएसटी बिल वाउचर एंट्री इत्यादि कर सकते हैं। आज के समय में काफी लोकप्रिय है और ज्यादातर छात्र टैली का कोर्स करके एकाउंटिंग का ढूंढने में लगे हुए हैं। टैली कोर्स करने से आपको आसानी से एकाउंटिंग का कार्य मिल जाएगा। कंप्यूटर के जमाने में टैली का उपयोग बढ़ता जा रहा है। क्योंकि कंप्यूटर में हर कोई व्यक्ति अपने दुकान और फर्म का सारा हिसाब किताब टैली सॉफ्टवेयर के माध्यम से शुरू कर चुके हैं। इसलिए टैली कोर्स एक बार आप भी आसानी से किसी भी दुकान में एकाउंटिंग का काम प्राप्त कर सकते हैं। हम इस आर्टिकल में टैली क्या है, इसके बारे में बात करेंगे।

Tally क्या है 

टेली एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है। जिसमें आप अपने दुकान का पूरा हिसाब किताब रख सकते हैं। इस सॉफ्टवेयर का उपयोग एकाउंटिंग कार्य को करने में किया जाता है। टेली की फुल फॉर्म  Transactions Allowed in a Linear Line Yards हैं। भारत में एकाउंटिंग के क्षेत्र में टैली सॉफ्टवेयर सबसे पॉपुलर है। टैली सॉफ्टवेयर का निर्माण टैली सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड एक मल्टीनेशनल कंपनी द्वारा किया गया है।
Tally  सॉफ्टवेयर का निर्माण करने वाली कंपनी का हेड क्वार्टर भारत के बेंगलुरु शहर में स्थित है। क्योंकि सबसे पहले इस सपने की जरूरत बेंगलुरु में पड़ी बेंगलुरु को आज के समय में भी आईटी का शहर कहा जाता है। बेंगलुरु में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का हेड क्वार्टर स्थित है। आज के समय की बात की जाए तो कंपनी की रिपोर्ट के अनुसार पता चला है, कि टैली सॉफ्टवेयर का उपयोग 15 से 20 लाख लोग कर रहे हैं।
 टैली सॉफ्टवेयर एक प्रकार का प्रीमियम सॉफ्टवेयर है। जिसका प्रीमियम देने के पश्चात आपको लाइसेंस की प्रदान की जाएगी। एजुकेशनल मोड में आप दिल्ली को फ्री में यूज कर सकते हैं। मतलब यह है, कि आप सीखने के लिए फ्री में tally का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन जीएसटी तथा एकाउंटिंग का काम करने के लिए आपको टैली की लाइसेंस key खरीदनी पड़ेगी।
Tally सॉफ्टवेयर का उपयोग करके आप एकाउंटिंग के क्षेत्र में हर प्रकार की गणना आसानी से कर सकते हैं। टैली सॉफ्टवेयर की कई अद्भुत फीचर्स है और इसी अद्भुत फीचर की वजह से एकाउंटिंग के क्षेत्र में यह सॉफ्टवेयर काफी लोकप्रिय हुआ है। दिल्ली में जब आप हिसाब किताब करते हैं। तो कई प्रकार की ऐसी घटना है, जो इस सॉफ्टवेयर के बिना असंभव है और जब आप करते हैं। उसके पश्चात द्वारा ऑटोमेटिक बैलेंस शीट तैयार कर दी जाती है।

टैली सीखने के महत्वपूर्ण बिंदु

अकाउंट का कार्य कॉमर्स वर्ग के छात्र करते हैं। लेकिन आप टैली सॉफ्टवेयर सीखना चाहते हैं। इसके लिए वाणिज्य वर्ग में पढ़ाई की हुई होना जरूरी नहीं है। कोई भी वर्ग का व्यक्ति एकाउंटिंग का कार्य सीख सकता है और इस सॉफ्टवेयर को सीख कर आसानी से अकाउंट का काम भी कर सकता है। टैली को सीखने के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं।
1. टैली सॉफ्टवेयर में आप जब भी सीखने की शुरुआत करते हैं। तो सबसे पहले टैली सॉफ्टवेयर को ओपन करें और उसमें एक कंपनी क्रिएट करें। कंपनी को create करने के लिए F3 फंक्शन की का उपयोग करें।
2. कंपनी क्रिएट करने के पश्चात आपको कुछ साधारण ladger जैसे सेल, परचेस, पेमेंट, रिसिप्ट इत्यादि।
3. टैली में लेजर बनाने के लिए आपको अकाउंट इन्फो में जाना होगा। अकाउंट info में जाने के पश्चात लेजर पर क्लिक करें और उसके पश्चात create लेजर पर क्लिक करें। ऐसा करके आप लेजर बना सकते हैं।
4. इसके बाद आपको साधारण बातें ध्यान में रखनी होगी। जैसे tally में एक एक कैपिटल अकाउंट होता है। कैपिटल अकाउंट का मतलब होता है, कि जो पैसा आपके द्वारा company में लगाया जाता है। वह कैपिटल अकाउंट में रहता है।
5. tally में दो मुख्य प्रकार के अकाउंट बैलेंस में देखने को मिलते हैं। पहला Liability – यह  ऐसे समान होते हैं जो किसी व्यक्ति से कर्ज या लोन के तौर पर लिए जाते हैं। मतलब यह है, कि यदि आप किसी पार्टी से क्रेडिट में माल लेते हैं। तो उस party की सारी एंट्री Liability के अंतर्गत आती है।
दूसरा Assets हैं। यह कैटेगरी जिसमें बिजनेस से जुड़ी हर प्रकार की चीजें आती हैं। बिजनेस संबंधित होने वाला प्रॉफिट भी इसी कैटेगरी के अंतर्गत आता है।
Student Helping Tips And Tricks :- Click Here 

Leave a Comment

You cannot copy content of this page