History Of Day Jayanti

वल्लभाचार्य जयंती , वल्लभाचार्य जीवनी

वल्लभाचार्य जयंती

वल्लभाचार्य जीवन परिचय:- श्री वल्लभ आचार्य जयंती हिंदू वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी (ग्यारहवीं चंद्र दिवस) पर मनाई जाती है। वल्लभ आचार्य की जन्म जयंती इसी महीने में मनाई जाती है। वल्लभाचार्य 1479-1531 ईस्वी में श्राद्ध अद्वैत (शुद्ध द्वैत) के विश्वास और कृष्ण-संप्रदाय की ब्रज क्षेत्र में वैष्णव मत की स्थापना करने वाले व्यक्ति थे। वल्लभ आचार्य जयंती हिन्दुओं के सबसे अधिक समर्पित उत्सवों में से एक है। श्रीकृष्ण के रूप में श्रृंगारक श्री वल्लभाचार्य के रूप में पूजा करने का श्रेय श्री वल्लभाचार्य को है जो वैष्णव मत के प्रसिद्ध संत हैं।

आरंभिक जीवन:- श्री वल्लभाचार्य, जिन्हें वल्लभ या महाप्रभु वल्लभाचार्य भी कहते हैं, भगवान कृष्ण के अनन्य भक्त थे और भारत के ब्रज क्षेत्र में वैष्णव मत के संस्थापक थे.उन्होंने भागवत पुराण पर अनुभूति, शोधाग्रंथ और भाष्य सहित अनेक ग्रंथों की रचना की।उनकी रचनाएँ और रचनाएँ उनकी माता यशोदा से बचपन में उत्पन्न अपने बावों से लेकर दानवों और दानवों पर उनकी दिव्य कृपा से राक्षसों और बुराइयों पर विजय प्राप्त करने की चलती रहती हैं।वल्लभाचार्य की जयंती को वल्लभाचार्य के रूप में मनाया जाता है।

PM Dhan Laxmi Yojana 2021

वल्लभाचार्य जयंती:- इस बार  वल्लभाचार्य जयंती 18 अप्रैल को मनाया जा रहा है। पहले कई लोगों का ऐसा माना जाना था कि  श्री वल्लभ आचार्य को श्रीनगर जी के रूप में भगवान कृष्ण से मिलने का अवसर मिला। कुछ लोगों का यह भी मानना है कि श्री वल्लभ आचार्य अग्नि देवता का ही पुनर्जन्म है। भगवान् श्रीकृष्ण ही परम ईश्वर है और समस्त संस्कारों में उनकी कृपा है कि वे किसी भी व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति में सहायता कर सकते हैं।श्रीकृष्ण के रूप में श्रद्धा करने का श्रेय श्री वल्लभाचार्य को है जो वैष्णव मत के प्रसिद्ध संत थे।

Best Games for Girls in 2021 Best Android Games of All Time

वल्लभ आचार्य जयंती को तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, चेन्नई और महाराष्ट्र में विशेष महत्व दिया जाता है।भक्त भी श्री वल्लभाचार्य के लिए विशेष प्रार्थना करते हैं और नाथद्वारा के मंदिर में यह उत्सव बड़े पैमाने पर मनाया जाता है। कई स्थानों पर भक्तजन प्रसाद भी देते हैं और बांटते भी हैं।

Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

Leave a Comment

You cannot copy content of this page