Health News

पित्ताशय पथरी क्यो होती हैं? जानिए लक्षण और आयुर्वेदिक इलाज

 Join Telegram Channel Now

पित्ताशय की पथरी के लक्षण और आयुर्वेदिक इलाज: पित्ताशय की पथरी काफी गंभीर बीमारी है और अगर किसी को पित्ताशय की पथरी होती है तो ऐसे में उन्हें काफी पीड़ा होती है और उनके जीवन पर काफी गहरा प्रभाव पड़ता है इस बीमारी के दौरान व्यक्ति के पित्त में पिग्‍मेन्‍ट और कोलेस्ट्रॉल नाम का पदार्थ बनता है और इसकी वजह से मरीज को तेज दर्द होता है आपको बता दें इसका दूसरा कारण यह है कि पित्त बिलरुबिन की मात्रा अधिक होने से पथरी बनती है जिसे हम पित्ताशय की पथरी कहते हैं आज हम आपको इस आर्टिकल में पित्ताशय की पथरी के लक्षण और इस बीमारी से छुटकारा पाने के लिए आयुर्वेदिक उपचार के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी बताएंगे

पित्ताशय की पथरी क्यो होती हैं? जानिए कारण – Pittashay ki pathri ke karan in hindi

  • पित्ताशय की पथरी होने का मुख्य कारण कोलेस्ट्रॉल एंजाइम  ना खुलने की वजह ठोस पत्थर के आकार का एक पदार्थ बनता है। 
  • इसके अलावा पित्ताशय की पथरी के कई कारण माने जाते हैं जैसे कि पानी का दूषित प्रवाह पित्ताशय में जमा होने के कारण एक तरह का पत्थर बन जाता है 
  • जिसे हम स्टोन भी कहते हैं। पित्ताशय की पथरी धीरे-धीरे विकसित होती है
  • और इसके लक्षण भी धीरे-धीरे दिखाई देते हैं शुरुआत में पानी का जो उचित हिस्सा होता है
  • वह पित्ताशय में में जमा होता है और धीरे-धीरे वह पत्थर में बदल जाता है 
  • उसके बाद आपको तेज और पीड़ादायक दर्द महसूस होने लगता है

पित्त पथरी के लक्षण- Pathari Ke Lakshan In Hindi

  • पित्ताशय की पथरी के लक्षण काफी गंभीर होते हैं जिनमें आपको पेट के दाहिने हिस्से में पीड़ादायक दर्द होता है 
  • कुछ मामलों में पीठ या दाएं कंधे तक आपको गंभीर दर्द होता है 
  • ऐसे में कई बार उल्टी और कम भूख लगती है इसके अलावा पित्ताशय की पथरी से पीड़ित व्यक्ति को अचानक पेट दर्द होने लगता है 
  • और बुखार भी होता है।

पित्ताशय की पथरी के घरेलू उपाय – Pittashay Ki Pathri ke gharelu Upay in Hindi

  • पित्ताशय की पथरी को हमेशा के लिए निकालने के लिए कई तरह के घरेलू उपाय है 
  • जिसको अपना कर आप हमेशा के लिए पित्ताशय की पथरी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं 
  • हमने कुछ घरेलू उपाय नीचे दिए

नींबू 

  • नींबू पित्ताशय की पथरी की समस्या से निजात पाने के लिए काफी कारगर और लाभदायक माना जाता है 
  • आप नींबू का रस बनाकर रोज खाली पेट दिन में कम से कम 4 बार सेवन करना चाहिए
  • इससे लीवर में कोलेस्ट्रॉल बनने रोकता है। और उसे तोड़कर यूरिन में निकाल देता है।

पुदीना

  • पुदीना में पेरटेन नाम का प्राकृतिक गुण होता है जो पित्ताशय की पथरी के लिए काफी कारगर माना जाता है 
  • पित्ताशय की पथरी को निकालने के लिए यह उपाय काफी कारगर माना जाता है 
  • पुदीना को चाय में मिलाकर रोज कम से कम दिन में 2 बार सेवन करने से पित्ताशय की बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं

साबुत अनाज

  • साबुत अनाज पथरी के लिए रामबाण इलाज माना जाता है 
  • क्योंकि इसमें फाइबर युक्त गुण मौजूद होता है जो पथरी की समस्या को जल्द से जल्द छुटकारा पाने मदद करता है 
  • इसके अलावा पित्ताशय में बनने वाली स्टोर को रोकने के लिए भी साबुत अनाज काफी लाभदायक माना जाता है 
  • अगर आप पित्ताशय की पथरी से पीड़ित है तो घरेलू उपाय के तौर पर आपको साबुत अनाज का सेवन करना चाहिए।

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने पित्ताशय की पथरी के कारण लक्षण और आयुर्वेदिक इलाज बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं

Important Link 
Join Our Telegram Channel 
Follow Google News
PhonePe App Download : जाने इस आसान तरीके से आप कमा सकते है हर दिन 300 रुपये

Leave a Comment