Health News

वायरल फीवर क्यो होता है? जानिए कारण, लक्षण, इलाज

 Join Telegram Channel Now

वायरल बुखार के कारण, लक्षण, इलाज:बारिश के मौसम में अक्सर लोगों को वायरल बुखार होने की संभावना अधिक होती है और कई लोग मॉनसून सीजन में भी वायरल बुखार से पीड़ित होते हैं मेडिकल भाषा में इसे वायरल फीवर भी कहा जाता है वायरल फीवर एक वायरल इन्फेक्शन से होने वाला गंभीर बुखार माना जाता है इसका मुख्य कारण बदलते मौसम और गलत वातावरण द्वारा बैक्टीरिया शरीर में जाने से वायरल बुखार होता है हालांकि इसका समय पर इलाज होना भी बेहद जरूरी है क्योंकि अगर आप अपने डॉक्टर से वायरल फीवर का समय पर इलाज नहीं करवाते तो यह टाइफाइड और निमोनिया जैसी कई गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है 

वायरल बुखार में गंभीर लक्षण पाए जाते है

  • वायरल बुखार में आपको कई तरह के गंभीर लक्षण देखने को मिलते हैं 
  • जिनमें आपको एक साथ तीन चार लक्षण देखने को मिलते हैं 
  • वैसे साधारण बुखार में आपको आपका शरीर सिर्फ आपके शरीर का तापमान बढ़ जाता है
  • इस आर्टिकल में हम आपको वायरल बुखार के लक्षण कारण और घरेलू उपाय के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी बताने जा रही है

वायरल फीवर के लक्षण क्या है?– Viral fever ke Lakshan in Hindi

  • वायरल फीवर में आपके शरीर का तापमान 99°F से लेकर 103°F या 39°C तक बढ़ जाता है 
  • इसके अलावा आपके वायरल इनफेक्शंस पर आप के लक्षण निर्भर करते हैं 
  • वैसे हमने मुख्य लक्षणों के बारे में हमने नीचे बताया है
  • लगातार सिरदर्द होना
  • नाक बहना
  • गले में खराश
  • ज्यादा ठंड लगना
  • मांसपेशियों में दर्द 
  • थकान और कमजोरी
  • आँखे लाल हो जाना
  • भूख नही लगना
  • पशिना आना

जैसे कई साधारण और गंभीर लक्षण देखने को मिलते है।

वायरल फीवर का इलाज क्या है? – Viral fever ka Ilaj in Hindi

  • जब भी आपको वायरल फीवर होता है तो इसको नजरअंदाज नहीं करना चाहिए 
  • हमने बताए गए लक्षण अगर आप में देखने को मिलते हैं तो यह वायरल फीवर होने की संभावना होती है 
  • ऐसे में आपको तुरंत अपने डॉक्टर से इलाज करवाना चाहिए 
  • जैसा कि हमने अगर आप वायरल फीवर को नजरअंदाज करते हैं या लापरवाही बरतते हैं 
  • तो ऐसे में यह बीमारी गंभीर बीमारी का कारण बन सकती है 
  • ऐसे में वायरल फीवर का इलाज भी काफी नॉर्मल है 
  • डॉक्टर आपके मेडिकल रिपोर्ट यानी कि ब्लड टेस्ट यूरिन टेस्ट और कुछ जरूरी टेस्ट के आधार पर आपको दवाओं का सेवन करने का सुझाव देते हैं 
  • डॉक्टर आपको ज्यादातर एंटीवायरस दवाओं का सेवन करने का सुझाव देते हैं 
  • इसके अलावा लक्षणों के आधार पर इबुप्रोफेन (ibuprofen) और एसिटामिनोफेन (acetaminophen) जैसी और दो काउंटर दबाव का सेवन करने का सुझाव देते हैं

वायरल फीवर से छुटकारा पाने का घरेलू उपचार –Viral fever gharelu Upay in hindi

  • वायरल फीवर से छुटकारा पाने का सबसे कारगर उपाय यह है कि 
  • आपको नीम के पत्तों को गर्म पानी में उबालकर इसका दिन में 2 बार सेवन करना चाहिए 
  • इसके अलावा आपको गुनगुना पानी पीना चाहिए 
  • साथ ही अदरक वाली ब्लैक टी का सेवन करना चाहिए 
  • जिससे सर्दी जुखाम में राहत मिलती है।अदरक वाली चाय संक्रमण से लड़ने में मदद करती हैं। और अदरक में संक्रमण और बैक्टीरिया को नष्ट करने के गुण होते है।

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने वायरल बुखार के कारण, लक्षण और इलाज के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं 

Important Link 
Join Our Telegram Channel 
Follow Google News
PhonePe App Download : जाने इस आसान तरीके से आप कमा सकते है हर दिन 300 रुपये

Leave a Comment