Rajasthan Sarkari Yojana Sarkari Yojana

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना 2021

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना 2021

इस आलेख में  राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना 2021,राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजनाआवश्यक दस्तावेज,राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना प्रोत्साहन राशि,राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना की पात्रता,राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लाभ,राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना2021 आवेदन फार्म,अंतर जाति विवाह लाभ आवेदन फार्म rajasthan,अंतर जाति विवाह लाभ आवेदन फार्म pdf,सुखद विवाह योजना राजस्थान आदि के बारे में  जानकारी दी गयी हैं |

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना 2021:-जैसा हम सभी जानते हैं कि आज के समाज में हर कोई अपने लिए खुद जीवन साथी ढूंढ रहा है चाहे वह इंटरकास्ट हो या अपने कास्ट में हो। अंतर्जातीय विवाह के बाद, कई बार दंपतियों को विपरीत परिस्थितियों में रहना पड़ता है। घर परिवार से भी दूर जाना पड़ता है। कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए राजस्थान की सरकार ने अंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहन देने के लिए “राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना” का शुभारंभ किया है।अंतरजातीय विवाह/ इंटर कास्ट शादी शब्द का अर्थ विभिन्न जातियों के लोगों के बीच विवाह है। कई मामलों में यह देखा गया है कि इंटर कास्ट के विवाहित जोड़े को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यहां तक ​​कि उन्हें ज्यादातर समय घर से भागना पड़ता है। कई बार ऐसा देखा गया है कि पुलिस भी उन पर दबाव डालती है।

राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजनाआवश्यक दस्तावेज:-
1.)दंपत्ति का संयुक्त फोटो|
2.)पैन कार्ड
3.)बर्थ सर्टिफिकेट
4.)आधार कार्ड
6.)जाति प्रमाण पत्र
7.)मैरिज सर्टिफिकेट
8.)संयुक्त बैंक खाता
9.)आयु प्रमाण पत्र (दोनों का)

ये भी पढ़े :-
1.) प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना

2.) विधवा पेंशन योजना

3.) मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना

राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना प्रोत्साहन राशि :-
1.)इस योजना के तहत दंपति को अपने जीवन को सही ढंग से चलाने के लिए 5 लाख रुपए की राशि दी जाएगी। जिसमे पति और पत्नी को 2.50 लाख रुपए की एफ़डी दी जाएगी।
2.)यह एफ़डी करीब 8 साल के लिए होती है।
3.)जिसमे से की 2.50 लाख रुपए का इस्तेमाल वह अपनी घेरलु चीज़ों को खरीदने के लिए कर सकते है ।

राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना की पात्रता:-
1.)यह योजना केवल राजस्थान के मूल निवासियों के लिए ही है|
2.)दंपत्ति विवाह के समय बालिक होने चाहिए|
3.)लड़के की आयु विवाह के समय कम से कम 21 वर्ष, तथा लड़की की आयु 18 वर्ष होना अनिवार्य है|
4.)दंपत्ति को मैरिज सर्टिफिकेट दिखाना होगा|
5.)योजना में आवेदन करने वाले आवेदक की आयु 35 वर्ष से कम होनी चाहिए|
6.)इस योजना का लाभ अपराधिक मामले के दोषी नहीं उठा सकते|
7.)योजना का लाभ उठाने के लिए दंपत्ति को विवाह के 1 वर्ष के अंदर आवेदन करना होगा|
8.)योजना में केवल पहली बार विवाह करने वाले ही पात्र हैं| दूसरा विवाह करने वाला इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएगा|

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लाभ :
1.)पहले तो जो भी इंटर कास्ट शादी करता है उसे राज्य की तरफ से 5 लाख रुपए ताकि आर्थिक सहायता दी जाएगी।
2.)शादी के बाद यह लोग बहुत ही आसानी से अपने सपनों के घर को बना सकते है।
3.)राज्य के युवक-युवतियों को अंतर जाति विवाह करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा|
4.)अंतरजातीय विवाह करने वाले दंपत्ति को आर्थिक सुरक्षा मिलेगी|
5.)अंतर जाति विवाह करने में आने वाले संघर्ष में थोड़ी कमी आएगी|
6.)विवाह करने वाले दंपत्ति को अपना जीवन शुरू करने में थोड़ी सहूलियत मिलेगी|
7.)युवा अपनी पसंद से अंतरजातीय विवाह करता है उसे अपने घर की शुरुआत के लिए किसी और से मदद लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। क्योकि राज्य सरकार जोड़ो को 5 लाख रुपए तक की सहायता जो कर रही है ।

राजस्थान अंतरजातीय विवाह योजना 2021 आवेदन फार्म:-
1.)अगर आप इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते है तो आपको इस योजना से जुड़ी आधिकारिक वैबसाइट पे जाना होगा ।
https://sjms.rajasthan.gov.in/sjms/Login.aspx
2.)यहा पे जाके पहले एसएसओ रजिस्ट्रेशन करवाना होगा ।
3.)आवेदन के लिए सभी दस्तावेजो को आपको स्कैन करना होगा और फिर आवेदन फॉर्म के साथ अपलोड करना होगा ।
4.)आपको एक साल के अंदर अंदर इस योजना के लिए आवेदन करना होगा ।

ये भी पढ़े :-

ऑफिसियल site
Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

Leave a Comment

You cannot copy content of this page