अन्नपूर्णा योजना क्या है , अन्नपूर्णा योजना कब शुरू हुई

1

अन्नपूर्णा योजना क्या है:-मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 15 दिसंबर 2016 को ARY की शुरुआत की थी. इस योजना में अन्नपूर्णा रसोई वैन के जरिए मात्र 5 रुपये में सुबह का नाश्ता और महज 8 रुपये में पौष्टिक भोजन दिया जाता है|राजस्थान सरकार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने की खास योजना चलाती है. इस योजना का नाम अन्नपूर्णा रसोई योजना (ARY) है|अन्नपूर्णा योजना क्या है

अन्नपूर्णा रसोई (ARY) की विशेषताएं:-रसोई वैन से लाभार्थियों के लिए नाश्ता, दोपहर का भोजन एवं रात्रि का भोजन उपलब्ध कराया जाता है. योजना में नाश्ता मात्र 5 रुपये में मिलता है. ARY से नाश्ते के रूप में पोहा, सेवइयां, इडली-सांभर, लापसी (मीठा दलिया), ज्वार खिचड़ा, बाजरा खिचड़ा, गेहूं खिचड़ा आदि मिलता है|

कहां से हुई ARY की शुरुआत:– इस स्कीम की शुरुआत 12 जिलों से हुई. इसमें जयपुर, कोटा, बीकानेर, भरतपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, जोधपुर, अजमेर, उदयपुर, बारण, दुर्गापुर और झालावाड़ शामिल हैं|

अन्नपूर्णा योजना नाश्ता के प्रकार:-सुबह के नाश्ते के रूप में पोहा, सेवइयाँ, इडली साँभर, लापसी, ज्वार खिचड़ा, बाजरा खिचड़ा, गेहूं खिचड़ा आदि।

अन्नपूर्णा योजना नाश्ता के प्रकार

भोजन:- भोजन के रूप में दोपहर में दाल-चावल, गेहूं का चूरमा, मक्का का नमकीन खीचड़ा, रोटी का उपमा, दाल- ढ़ोकली, चावल का नमकीन खीचड़ा, कढ़ी-ढ़ोकली, ज्वार का नमकीन खीचड़ा, गेहूं का मीठा खीचड़ा इत्यादि।

रात्रि भोजन:– यह सामग्री इस प्रकार है: दाल-ढ़ोकली, बिरयानी, ज्वार की मीठी खिचड़ी, चावल का नमकीन खीचड़ा, कढ़ी-चावल, मक्के का नमकीन खीचड़ा, बेसन गट्टा पुलाव, बाजरे का मीठा खीचड़ा, दाल-चावल, गेहूं का चूरमा इत्यादि।

भोजन सामग्री की मात्रा:- प्रत्येक भोजन सामग्री की मात्रा 350 ग्राम होगी|

ये भी पढ़े :-

Varisth Nagrik Tirth Yatra 2020

मुख्यमंत्री आवास योजना 2020

श्रमिक कार्ड योजना राजस्थान

Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here