Banking Tips Tech News Technology

Cryptography Kya Hai Hindi

Join Telegram Channel Now

आज के समय में इंटरनेट का इस्तेमाल हर कोई करता है। इंटरनेट के बढ़ते उपयोग में लोगों की दिनचर्या को बदल दिया है। लोग इंटरनेट किस जगह व्हाट्सएप और मैसेंजर पर लोगों से बातें करते हैं। अगर आप व्हाट्सएप और मैसेंजर को पुराने समय के चला रहे हैं। तो आपने व्हाट्सएप मे encryption का ऑप्शन अवश्य देखा होगा। हर कोई व्यक्ति को व्हाट्सएप और मैसेंजर के encryption फीचर के बारे में जानकारी नहीं है। cryptography in hindi , cryptography meaning in hindi ,meaning of cryptography in hindi , what is cryptography in hindi , cryptography hindi meaning , encryption kya hota hai , क्रिप्टोग्राफी क्या होती है

आज की इंटरनेट की दुनिया में एंक्रिप्शन व डिक्रिप्शन शब्द बहुत लोकप्रिय हो चुके हैं। ऐसा नेटवर्क है, जहां पर कोई भी चीज सुरक्षित नहीं है। आपका डाटा कभी भी किसी हैकर द्वारा है। hack किया जा सकता है। इसीलिए डाटा को सुरक्षित करने के लिए encryption का उपयोग किया जाता है। एक्रिप्शन के माध्यम से डाटा को सुरक्षित करना क्रिप्टोग्राफी के अंतर्गत आता है। आज हमेशा आर्टिकल के माध्यम से क्रिप्टोग्राफी के बारे में संपूर्ण जानकारी का जिक्र करेंगे।
क्रिप्टोग्राफी क्या है:- एनक्रिप्टिंग व डिक्रिप्टिंग के उपयोग से महत्वपूर्ण मैसेज को प्रोसीजरर्स बनाने की प्रक्रिया को क्रिप्टोग्राफी कहते हैं। इस प्रक्रिया का मुख्य उद्देश्य यह है, कि किसी भी मैसेज को हैकर नहीं पढ़ पाए। सभी मैसेज या डाटा को अनुपयोगी बनाने की प्रक्रिया जिसके माध्यम से सभी काम करता ही समझ सकते हैं। इस प्रक्रिया को encryption कहते हैं। क्रिप्टोग्राफी शब्द ग्रीक भाषा से लिया गया है। ग्रीक भाषा के शब्द krypto से क्रिप्टोग्राफी शब्द की उत्पत्ति हुई। इस शब्द का मतलब hidden secrets होता है। अगर इस शब्द का विस्तार में वर्णन करें तो यह एक ऐसी कला है। जिससे हम अपने मैसेज डाटा पर इंफॉर्मेशन को सुरक्षित कर सकते हैं।
क्रिप्टोग्राफी के आधार पर हम अपने डाटा को एक secret code में बदल देते हैं। जिसके पश्चात कोई भी हैकर आपके डेटा को नहीं पढ़ सकता है। इस प्रकार के सीक्रेट कोड को cipher text कहा जाता है। इस डाटा को वही व्यक्ति पड़ सकता है। जिस व्यक्ति को secret key आपके द्वारा प्रदान करवाई गई होगी।
क्रिप्टोग्राफी में 2 प्रोसेस होते हैं। जिन्हें encryption और डिक्रिप्शन के नाम से जाना जाता है। इनका काम ई-मेल s.m.s. डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड और अन्य महत्वपूर्ण डिटेल को सुरक्षा प्रदान करना होता है। सुरक्षा प्रदान करने के लिए encryption द्वारा साधारण डाटा को cipher text ने बदल दिया जाता है। उसके पश्चात डिस्क्रिप्शन के द्वारा cipher text को पुनः साधारण डाटा में कन्वर्ट कर दिया जाता है।
क्रिप्टोग्राफी के प्रकार:-  क्रिप्टोग्राफी जिसका उपयोग के तौर पर डाटा को सुरक्षित करने के लिए क्या जाता है। यह क्रिप्टोग्राफी दो प्रकार की होती है।
1.) Symmetric Cryptography :- इस प्रकार की क्रिप्टोग्राफी के जरिए एक ही सिक्योरिटी key के माध्यम से डाटा को Encrypt और Decrypt किया जाता है।
2. Asymmetric Cryptography :- इस प्रकार की क्रिप्टोग्राफी के जरिए डाटा को Encrypt और Decrypt करने के लिए अलग-अलग सिक्योरिटी key होती है।

Important Link 
Join Our Telegram Channel 
Follow Google News
PhonePe App Download : जाने इस आसान तरीके से आप कमा सकते है हर दिन 300 रुपये

Leave a Comment