Digital Tips Entertainment Technology

Multimedia Kya Hai Hindi

Multimedia Kya Hai Hindi
मल्टीमीडिया क्या है , What is Multimedia in Hindi , Multimedia Kya Hai Hindi , What is multimedia in Hindi , Multimedia in Hindi , What is Multimedia Technology in Hindi , What Is A Multimedia Software in Hindi ,
मल्टीमीडिया का नाम आपने सुना होगा मल्टीमीडिया एक सॉफ्टवेयर है। बढ़ती टेक्नोलॉजी के कारण मल्टीमीडिया का आविष्कार हुआ है और मल्टीमीडिया के मोबाइल जो वीडियो गाने ऑडियो ग्राफिक इत्यादि काम की शुरुआत हुई है। मल्टीमीडिया के नाम से इस बात का पता चलता है, कि मीडिया के मल्टीमेट फॉरमैट उपलब्ध होंगे । आज के समय हर मोबाइल में यह टेक्नोलॉजी उपस्थित है।
Multimedia Kya Hai Hindi :- मल्टीमीडिया को एक सॉफ्टवेयर माना जाता है। मल्टीमीडिया के नाम से पता चलता है, की मल्टीमीडिया एक प्रकार का इंटीग्रेशन होता है। मीडिया के मल्टीपल फॉर्मेट में उपस्थित होना मल्टीमीडिया कहलाता है। इसमें बहुत कुछ चीजें सम्मिलित होती है। जैसे:-टैक्स, ग्राफिक, ऑडियो, वीडियो इत्यादि
उदाहरण के तौर पर किसी एक ऐसे वीडियो की बात करें। जिसमें ऑडियो और वीडियो दोनों के लिए शामिल हो। उसे मल्टीमीडिया चाहते हैं। वही एजुकेशन सॉफ्टवेयर जिसमें एनिमल साउंड और टैक्स तीनों चीजें शामिल हो इस प्रकार मल्टीमीडिया को परिभाषित किया जा सकता है। मल्टीमीडिया को एक सॉफ्टवेयर भी कहा जाता है। सीडी और डीवीडी भी मल्टीमीडिया फॉर्मेट के एक अंग है। मल्टीमीडिया में बहुत से डाटा को स्टोर रहते हैं और इन डाटा को स्टोर करने के लिए इंटरनल स्टोरेज की जरूरत पड़ती है।
टेक्नोलॉजी के बढ़ते कदम ही मल्टीमीडिया के आविष्कार का कारण बन पाए हैं। मल्टीमीडिया एक बहुत ही कॉमन कर्म हो गया है। जहां पहले लोग मल्टीमीडिया के लिए बहुत अच्छा स्ट्रीट होते हैं। आजकल मल्टीमीडिया का इस्तेमाल होता है। क्योंकि मल्टीमीडिया इस्तेमाल करने में बहुत सरल है। लेकिन पहले के समय में मल्टी मीडिया का इस्तेमाल करना काफी कॉम्प्लिकेटेड था। जिसे टेक्नोलॉजी के साथ साथ छल किया गया।
मल्टीमीडिया के लाभ:-  बढ़ती टेक्नोलॉजी के कारण मल्टीमीडिया का आविष्कार हुआ है और मल्टीमीडिया की आविष्कार के पश्चात कई फायदे देखने को मिले हैं। जो नीचे निम्नलिखित रुप से दिए गए हैं।
1. मल्टीमीडिया बहुत ही ज्यादा आसानी से उपयोग किया जाने वाला सॉफ्टवेयर है। यह ज्यादा कॉम्प्लिकेटेड नहीं है। हालांकि यह सॉफ्टवेयर पहले ज्यादा कॉम्प्लिकेटेड था। लेकिन बढ़ती टेक्नोलॉजी के साथ इसका इस्तेमाल करना काफी आसान हो गया। मल्टीमीडिया के उपयोग से आप इन्हें आसानी से पढ़,सुन और देख सकते हैं
2. यह मल्टीसेंसरी होता है। इसका मतलब यह है, कि इसमें उपयोगकर्ता सभी सेंस का इस्तेमाल करते हैं।
3. मल्टीमीडिया सिस्टम को पोर्टेबिलिटी प्राप्त प्रदान करते हैं।
4. यह बहुत ही पिक्चर बल होता है। इसमें मीडिया को आसानी से बदला जा सकता है। जिससे यह डिफरेंट सिचुएशन को adapt कर सके।
5. मल्टीमीडिया एक बहुत बड़ी वैरायटी में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसकी रेंज में एक आदमी से बहुत बड़ा ग्रुप शामिल हो सकता है।
6. मल्टीमीडिया सीखने के लिए ट्रेनिंग कोर्स बिल्कुल कम है। हालांकि ट्रेनिंग लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। क्योंकि टेक्नोलॉजी के बढ़ते कदम ने मल्टीमीडिया को चलाना बहुत आसान कर दिया है।
मल्टीमीडिया के नुकसान:- टेक्नोलॉजी के द्वारा विकसित की गई सभी वस्तुएं जिनके फायदे बहुत हैं। लेकिन फायदों के साथ-साथ नुकसान भी हैं। इसी प्रकार मल्टीमीडिया के फायदों के साथ-साथ मल्टीमीडिया के नुकसान भी दर्ज किए गए हैं। जो निम्न प्रकार है।
1.  मल्टीमीडिया का इस्तेमाल करना बहुत आसान है। लेकिन कई बार बहुत सारे इंफॉर्मेशन एक साथ इकट्ठा हो जाते हैं। जिसकी वजह से आपके डिवाइस में इंफॉर्मेशन ओवरलोड जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।
2. मल्टीमीडिया एक फ्लैक्सिबल उपकरण माना जाता है। इसका उपयोग करते वक्त गानों तथा वीडियो को चेंज करने में थोड़ा टाइम लगता है।
3.  मल्टीमीडिया का उपयोग बड़ी रेंज में करने के लिए बहुत ही ज्यादा पैसा खर्च करना पड़ता है।
4. कई बार मल्टीमीडिया को चलाने के लिए स्पेशल हार्डवेयर की आवश्यकता पड़ जाती है।
5.  मल्टीमीडिया में अभी भी कई प्रकार की समस्याएं हैं। जिन्हें आसानी सेconfigure नहीं किया जा सकता है।
6. मल्टीमीडिया का मिस यूज भी हो जाता है। इसके अलावा कई बार मल्टीमीडिया का अधिक उपयोग होना एक आम बात हो गया है।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page