Documents

राजस्थान बोर्ड की घोषणा : 45 वर्ष पुरानी ले सकेंगे मार्कशीट, जानिए संपूर्ण प्रक्रिया।

राजस्थान बोर्ड की घोषणा

राजस्थान बोर्ड की घोषणा : राजस्थान बोर्ड द्वारा एक और नई घोषणा की गई घोषणा के तहत अब कोई भी विद्यार्थी 45 वर्ष पुराना कोई भी प्रमाण पत्र ऑनलाइन ऑनलाइन माध्यम से ले सकते हैं।

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको राजस्थान बोर्ड द्वारा की गई नई घोषणा के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। हाथी को हम आपको यह भी बताएंगे कि आप अपनी खोई हुई, मार्कशीट को वापस कैसे प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए दोस्तों को अंत तक जरूर पढ़ें।

राजस्थान बॉर्ड की नई घोषणा और 45 वर्ष मैसेज मार्कशीट को भी कर सकेंगे ऑनलाइन डाउनलोड

दोस्तों एक विद्यार्थी के लिए सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज उसकी 10वीं या 12वीं की अंक तालिका होती है। पर अगर किसी विद्यार्थी की 10वीं या 12वीं की कोई अंकतालिका खो जाती है, तो उसे वापस लेने के लिए अजमेर के चक्कर लगाने पड़ते थे, लेकिन दोस्तों अब राजस्थान बोर्ड में एक नई घोषणा की है। इसके तहत आपको अपनी खोई हुई अंकतालिका वापस प्राप्त करने के लिए आपको अजमेर जाने की जरूरत नहीं होगी। आप अपने घर पर ही फोन या कंप्यूटर की मदद से अपनी मार्कशीट मंगवा सकता है।

राजस्थान बोर्ड ने यह भी बताया है। कि इस प्रक्रिया के माध्यम से विद्यार्थी केवल मार्कशीट ही नहीं और भी कई अलग-अलग दस्तावेज प्राप्त कर सकते हैं।

डुप्लीकेट अंकतालिका प्राप्त करने की प्रक्रिया

राजस्थान बोर्ड द्वारा घोषित की गई इस सुविधा के जरिए अंकतालिका को प्राप्त करने के लिए सर्वप्रथम विद्यार्थी को राजस्थान बोर्ड की ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।

राजस्थान बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर आपको गेट मार्केट का ऑप्शन देखने को मिल जाएगा।

तो आपको वहां पर आपका रोल नंबर, आपका नाम, परीक्षा का सन, परीक्षा का नाम, पिता का नाम और मोबाइल नंबर दर्ज कर रहा होगा।

इतना करने के बाद आपको अपना आधार कार्ड या वोटर आईडी को भी अपलोड करना होगा।

जैसे ही आप अपनी संपूर्ण पर्सनल इंफॉर्मेशन भर देते हैं। तब आपको राजस्थान बोर्ड द्वारा निर्धारित किया गया शुल्क का भुगतान करना होगा।

शुल्क का भुगतान करने के लिए आप नेट बैंकिंग डेबिट कार्ड आदि का उपयोग करके ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं।

इतना करने के बाद आपका आवेदन संपूर्ण हो जाता है, और आपके पते पर 7 दिनों में स्पीड पोस्ट के माध्यम से आप की डुप्लीकेट अंकतालिका पहुंच जाती है।

इतना रहेगा इसका शुल्क

दोस्तों अगर आप की अंक तालिका खो चुकी है, और आप उसे ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से वापस प्राप्त करना चाहते हैं, तो उसके लिए राजस्थान बॉर्ड ने ₹300 का शुल्क निर्धारित किया है।

दोस्तों इस प्रक्रिया के माध्यम से मार्गदर्शन प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको 300 रुपए का भुगतान करना होगा।

राजस्थान बोर्ड ने डुप्लीकेट सर्टिफिकेट ₹400 का शुल्क निर्धारित किया है।

यह भी पढें :- बेरोजगारी भत्ता आय प्रमाण पत्र फार्म PDF | राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021

Conclusion

दोस्तों राजस्थान बोर्ड द्वारा की गई यह घोषणा विद्यार्थियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित होगी। क्योंकि अगर किसी विद्यार्थी की कोई अंक तालिका यह सर्टिफिकेट खो जाता है।
तो पुसद विद्यार्थी मार्कशीट को वापस प्राप्त कर सकता है।

आशुतोष राजस्थान पहुंच अपनी घोषणा की 1975 से लेकर 2020 तक कि 45 वर्ष पुरानी कोई भी अंक तालिका आप इस प्रक्रिया के माध्यम से ऑनलाइन प्राप्त कर सकेंगे।

1 Comment

Leave a Comment

You cannot copy content of this page