CM Sarkari Yojana Rajasthan Sarkari Yojana Sarkari Yojana

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना 2021 , 8 रुपये में मिलेगा खाना

भारत में कई ऐसे लोग होते हैं जो अपनी कमाई से दो वक्त की रोटी का इंतजाम भी नहीं कर पाते हैं। बहुत से लोग नौकरी करने के लिए एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते हैं तथा सैलरी कम होने पर वह सिर्फ एक ही बार खाना भी बहुत ही मुश्किल में खा पाते हैं। ऐसे में सरकार ने इन गरीब लोगों के लिए एक नई योजना चालू की है। हालांकि भारत के कई ऐसे राज्य हैं जहां से पहले ही इस तरह की योजनाएं चल रही है लेकिन इस बार राजस्थान सरकार ने राजस्थान इंदिरा रसोई योजना की शुरुआत की है। जिसके तहत गरीब लोगों को बहुत ही कम रुपए में भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।  इंदिरा रसोई योजना 2021 , इंदिरा रसोई योजना राजस्थान , इंदिरा रसोई योजना क्या है , इंदिरा रसोई योजना जॉब , इंदिरा रसोई योजना कब चालू होगी , Indira Rasoi Yojana Started In Rajasthan , Raj Govt Indira Rasoi Scheme , Benefits Of Indira Rasoi Yojana ,

राजस्थान के माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस योजना को शुरुआत करने का निर्णय लिया है। योजना के माध्यम से सभी गरीब और निर्धन व्यक्तियों को बहुत ही कम रुपए में अच्छा भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। श्री अशोक गहलोत ने इंदिरा गांधी रसोई योजना पर प्रतिवर्ष 100 करोड़ रुपए खर्च करने का ऐलान भी किया है आपको पता होगा राजस्थान में पहले से ही अन्नपूर्णा योजना चल रही है। जिसको बदलकर गहलोत सरकार ने इस का नया नाम राजस्थान इंदिरा रसोई योजना कर दिया है। अब जब सब कुछ बदल कर नहीं योजना को लागू किया गया है तो इसमें कुछ बदलाव भी किए गये होंगे। आइए जानते हैं इनमें से कौन से बदलाव किए गए हैं।
 राजस्थान इंदिरा रसोई योजना क्या है:-  राजस्थान की सरकार ने अपने गरीब और निर्धन लोगों को दो वक्त की रोटी देने के लिए राजस्थान इंदिरा रसोई योजना की शुरुआत की है। इसमें गरीब और कमजोर वर्ग के लोगों को मात्र ₹8 में पौष्टिक भोजन कराया जाएगा। आपको पता ही होगा कि कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री ने एक संकल्प लिया था। जिसमें उन्होंने कहा था ‘कोई भूखा ना सोए’ इस संकल्प को दोहराते हुए उन्होंने इस योजना का निर्माण किया है। इस योजना को 20 अगस्त 2020 से सभी नगरी क्षेत्रों में राजस्थान इंद्र रसोई योजना का शुभारंभ कर दिया गया है।
सरकार की इस योजना में प्रति वर्ष 100 करोड़ रुपए का खर्च होगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस योजना की खुद ही बैठक कर पूरी योजना की समीक्षा की। योजना पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम पर रखी गई है। जिन्होंने अपना सारा जीवन जन सेवा में लगा दिया था। सरकार कॉलेज इस योजना को पूरी तरह से सफल बनाना है। राजस्थान सरकार ने इस योजना से प्रदेश के सभी गरीब लोगों को सस्ते दामों पर भोजन नसीब होगा। इस योजना को लागू कर दी है। राजस्थान सरकार ने पूरे देश में एक नई मिसाल कायम की है।
 कितने लोगों को मिलेगा लाभ :- इंदिरा रसोई योजना के तहत चार करोड़ 87 लाख लोगों को भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। यह जानकारी विभाग के एक सचिव भवानी सिंह देता ने दी है। योजना के माध्यम से इसमें एक प्रमुख बदलाव किया गया है। जिसमें से पहले भोजन Van से उपलब्ध कराया जाता था, लेकिन अब इस को बदल दिया गया है। एक स्टॉल लगाया जाएगा, हालांकि यह स्टॉल सरकारी नहीं होगा बल्कि गैर सरकारी होगा। मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों को नोटिस भेज दिया है। कि वह ऐसे संस्थानों का जल्दी चुनाव कर ले। इस योजना से बहुत लोगो को लाभ होगा।
इंदिरा रसोई योजना में भोजन मिलने का स्थान:- यह रसोईया अधिक भीड़ भाड़ वाली जगह पर ही खोली जाएंगे। जैसे कि बस स्टैंड रेलवे स्टैंड और अस्पतालों के आसपास खोली जाएंगी। इन जगहों पर अत्यधिक मात्रा में लोग इधर से उधर या भीड़ एकत्रित होती है। राजस्थान सरकार की योजना के अनुसार प्रत्येक थाली में 100 ग्राम दाल 100 ग्राम सब्जी और ढाई सौ ग्राम चपाती मिलेगी, और साथ में अचार की भी व्यवस्था की गई है। मेन्यू में आवश्यकतानुसार बदलने की व्यवस्था भी की गई है।
योजना कराई जाएगी मोनिटरिंग :- योजना के सचिव भवानी सिंह ने बताया कि यह योजना आईटी पर आधारित है जिसके तहत योजना में शामिल होने वाले व्यक्ति को सबसे पहले कूपन को खरीदना होगा। जैसे ही व्यक्ति कूपन खरीदेगा उसके मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा। पूरी तरह से पारदर्शिता लाने के लिए सीसीटीवी और मोबाइल ऐप का निर्माण किया गया है।
राज्य सरकार देगी 12 रुपये की सब्सिडी :- राजस्थान के नगर विकास मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि व्यक्तियों की एक थाली की कीमत ₹20 देनी होगी। सरकार इसमें से ₹12 आपको सब्सिडी प्रदान करेगी। प्रदेश में कुल 358 रसोइयों खोलने की व्यवस्था की गई है। जहाँ से लोगो को सम्मान के साथ बहुत ही कम दामों में पौष्टिक भोजन करवाया जाएगा।  भोजन की गुणवत्ता को जांचने के लिए सरकार ने राज्य और जिला स्तर पर एक कमेटी का गठन भी कर दिया है। जिससे लोगो को अच्छा भोजन प्राप्त हो सके। कमेटी बन जाने से रसोइए किसी भी प्रकार का कोई घपला नहीं कर सकते हैं। भोजन की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं आएगी।
 कोरोना से बचाव के पूरा ध्यान:-  वैसे भी अभी कोरोना वायरस चल रहा है, और अत्यधिक भीड़ हो जाने से इस वायरस के फैलने का खतरा अधिक हो जाता है। इसके लिए सरकार ने साफ सफाई की समुचित व्यवस्था और सैनिटाइजर की भी व्यवस्था की है। खाने से पूर्व आपको पूरी तरह से सैनिटाइजर किया जाएगा। इस महामारी के कारण गरीब वर्ग के लोग वैसे भी भोजन न मिलने से त्रस्त हो गए हैं और यह योजना गरीब लोगों के कल्याण के लिए ही लागू की गई है। ऐसे में कोरोना से बचने का पूर्ण इंतजाम सरकार ने किया है।
आशा करता हूं इस योजना के आ जाने से गरीब वंदन व्यक्तियों को दो वक्त की रोटी आसानी से मिल जाएगी। अब उन्हें भूखे नहीं सोना पड़ेगा। सरकार की इस मुहिम को आप सभी लोगों को सफल बनाना है। जिससे सरकार आएंगे चलकर भी आपके लिए ऐसी कई और योजनाओं को भी लागू करें दोस्तों आशा करता हूं, कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। इस लेख में मैंने आपको राजस्थान इंदिरा रसोई योजना 2020 के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। जिसके तहत आप मात्रा ₹20 में पौष्टिक भोजन को कर सकते हैं।
Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

1 Comment

Leave a Comment

You cannot copy content of this page