चंद्रमा से कितनी दूरी पर परिक्रमा करेगा NASA का ये नया उपग्रह, जानिए इसके बारे में

Join WhatsApp Channel Join Now

Telegram Join Now Join Now

चंद्रमा से कितनी दूरी पर परिक्रमा करेगा NASA का ये नया उपग्रह, जानिए इसके बारे में :- नासा (NASA) के आर्टिमिस अभियान (Artemis Mission) के तरह विभिन्न प्रकार के प्रयास कर रहा है। हालही में नासा ने बड़ी सफलता हासिल की है आपको बता दें नासा बहुत जल्द SLS रॉकेट और ओरियोन यान को पहली बार अंतरिक्ष में भेजेगा। इसके अलावा सिस्लूनार ऑटोनोमस पोजिशनिंग सिस्टम टेक्नोलॉजी ऑपनेशन्स एंड नैवीगेशन एक्सपेरिमेंट (Cislunar Autonomous Positioning System Technology Operations and Navigation Experiment, CAPSTONE) ओरियोन (Orbit path) का परीक्षण भी इस महीने करने वाला है।

CAPSTONE NASA क्या है

नासा (NASA) ने 29 जून 2022 को CAPSTONE, NASA का नया उपग्रह लॉन्च किया है। जो चंद्र कक्षा का परीक्षण करेगा और भविष्य के मिशनों  में बड़ा योगदान देगा। आपको बता दें यह एक माइक्रोवेव ओवन के आकार का क्यूबसैट है,जिसका वजन लगभग 55 पाउंड यानीके 25 किलोग्राम था CAPSTONE, Cislunar Autonomous Positioning System Technology  opration  और  नेविगेशन प्रयोग के लिए चंद्र कक्षा का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। और खास चंद्रमा की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए इस अभियान को चलाया गया है।

नोट :-  NASA का यह अभियान दुनिया भर में चर्चा का विषय बना है। लगातार कठिन प्रयास और संसोधन के बाद नासा को इस बार बड़ी अपॉर्च्युनिटी मिली है जिसे वह पूरा करने की कोशिश कर रहे है।

चंद्रमा से कितनी दूरी पर परिक्रमा करेगा?

नासा की ऑफिशियल वेबसाइट के मुताबिक यह चंद्रमा पर CAPSTONE NRHO में प्रवेश करेगा। और चंद्रमा के उत्तरी ध्रुव के 1,600 किमी के निकट के पास और दक्षिणी ध्रुव से सबसे दूर 70,000 किमी के भीतर उड़ान भरेगा। वैसे यह नासा का अद्भुत प्रयास भी माना जाता है क्योंकि यह अंतरिक्ष यान हर साढ़े छह दिनों में चक्र को दोहराएगा और गतिशीलता का अध्ययन करने के लिए कम से कम छह महीने तक इस कक्षा को बनाए रखेगा।

चंद्रमा की पड़ताल करेगा?

  • यह लगभग तीन महीने की लंबी यात्रा के बाद कैप्स्टोन चंद्रमा की कक्षा में पहुंचेगा
  • वह छह महीने तक चंद्रमा का चक्कर लगाता रहेगा। साथ ही कक्षा की जरूरी और  सटीक जानकारी हासिल करेगा
  • इसके अलावा  यह विशेष तौर पर इस कक्षा में लगने वाला प्रणोदन और शक्ति आवश्यकताओं का पता लगाएगा
  • नासा चन्द्रमा और इस कक्षा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सके।

NASA की पृथ्वी और चंद्रमा का दक्षिणी ध्रुव दोनों पर नजर रहेंगी?

  • नासा द्वारा इस मिशन को पूरा करने के लिए लम्बे असरो से मेहनत कर रहा है हालांकि उनकी इस मेहनत का फल धीरे धीरे मिल रहा है
  • आपको बता दें  NRHO कक्षा का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि उससे पृथ्वी का निर्बाध तस्वीर मिलेगा
  • चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव भी दिखाई देगा। साथ ही पृथ्वी से जुड़ी जरूरी जानकारी भी हासिल करेगा

माइक्रोवेव के आकार का केवल 25 किलो वजन का क्यूबसेट चंद्रमा की कक्षा (Moon Orbit) का रास्ता पता लगाएगा। और चंद्रमा से जुड़ी हर जानकारी और तस्वीरे से नासा नजर रखेगा। नासा द्वारा चलाई गई इस अभियान का नाम (CAPSTONE Mission) है।

Read Also

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने चंद्रमा से कितनी दूरी पर परिक्रमा करेगा NASA का ये नया उपग्रह, जानिए इसके बारे में के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। इसलिए हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment

Small Business Idea: इस तरह शुरू करें अचार का बिजनेस, देखे कमाई!