चिकन पॉक्स में क्या खाना चाहिए

1

चिकन पॉक्स या  चेचक के नाम से भी जानते हैं ।यह वेरीसेला जोस्टर नाम के वायरस के द्वारा फैलता है।इस  विषाणु के चपेट में आते ही  व्यक्ति के संपूर्ण शरीर में फुंसियां या लाल रंग के चकत्ते पड़ जाते हैं ।स्मरण रखने योग्य तथ्य है ,कि यह हवा एवं खांसी के द्वारा भी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को संक्रमित कर सकता है ।ऐसी स्थिति में बच्चों को संक्रमित व्यक्ति से दूरी बनाकर रहना चाहिए ।चेचक के रोगी को अधिक से अधिक घर में ही रहना चाहिए एवं अधिक आवश्यक काम होने पर ही घर से निकले, अन्यथा घर पर ही रहने का प्रयास करें ।इससे अन्य व्यक्तियों में संक्रमण का खतरा टल जाएगा । चेचक के रोगी के आसपास सफाई का विशेष रूप से ध्यान रखें ,जिससे संक्रमण जोर ना पकड़ सके।  चेचक में क्या खाएं क्या नहीं , चिकन पॉक्स में क्या खाना चाहिए , चेचक में भोजन , chicken pox me kya khana chahiye in hindi , chechak me kya khaye , chechak hone par kya khana chahiye

चेचक के रोगी को क्या खाना चाहिए:- 

1)चेचक से पीड़ित व्यक्ति को कार्बोहाइड्रेट से युक्त पदार्थ का सेवन करना चाहिए जैसे  केला ।  इसमें में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है ।इसके अतिरिक्त अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं ।चेचक के बुखार को नियंत्रित करने के लिए जिन दवाइयों को रोगी को दिया जाता है। उसके प्रभाव से रोगी के स्वाद में कमी आती है। ऐसे में केला एवं सेब  स्वाद को ठीक करने का काम करते हैं ।यह पाचन तंत्र के लिए भी हितकारी है ।

2)चेचक के रोगी को उबली हुई सब्जियों का सेवन करना चाहिए सब्जियों में व्यक्ति पत्ता गोभी ,फूल गोभी ,गाजर ,शकरकंद, आलू ,बींस आदि ।सब्जियों को उबालकर खाया का  सकता है ।इसके अतिरिक्त आप इनका सूप बनाकर भी पी सकते हैं।

3)चेचक के रोगी का शरीर वायरस से लड़ते-लड़ते  कमजोर हो जाता है ।ऐसी स्थिति में रोगी को तरह-तरह के पोषक तत्व की आवश्यकता पड़ती है। जो केवल फलों से ही प्राप्त की जा सकती है ।जैसे अंगूर, केला, सेब, खरबूजा ,तरबूज इत्यादि। इसके अतिरिक्त आपके पास दूसरा विकल्प यह है, कि आप फल को खाने के स्थान पर फलों से जूस एवं शेक बनाकर भी पी सकते हैं।

4)रागी, कैल्शियमफाइबर की मात्रा प्रचुर होती है रागी का उपयोग लोग बिना तेल का डोसा, रागी माल्ट ,दलिया बना सकते हैं। इसके अतिरिक्त अमीनो एसिड से धनी खाद्य पदार्थ रोगी के लिए बहुत सहायक सिद्ध होते हैं। जैसे डेयरी में उपलब्ध उत्पाद

5)चिकन पॉक्स के रोगी को नियमित रूप से सुबह के समय नारियल पानी अवश्य रूप से पीना चाहिए ।नारियल पानी में विटामिन एवं खनिज पदार्थ की पर्याप्त मात्रा में विद्यमान होते हैं इसमें कैलोरी शून्य है ।नारियल पानी शरीर को शीतलता प्रदान करता है इसे पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है ,एवं इससे एसिडिटी की समस्या भी दूर होती है।

6)चिकन पॉक्स से पीड़ित व्यक्ति को दही का सेवन करना चाहिए दही में कैल्शियम एवं प्रोबायोटिक्स विद्यमान होते हैं ।जिससे व्यक्ति की त्वचा स्वस्थ रहने के साथ ही रोगी की प्रतिरोधक क्षमता में भी सुधार होता है ।दही शरीर को शीतलता प्रदान करती है

चिकन पॉक्स के दौरान किन भोज्य पदार्थों को खाने से बचना चाहिए:- 

1)चिकन पॉक्स से ग्रसित व्यक्ति के मुंह एवं गले में छाले उभर आते हैं ।परंतु यह निश्चित नहीं है, कि सभी इस समस्या  से ग्रसित हो ।यदि किसी को छाले की समस्या है ,तो ऐसी स्थिति में खट्टे फल खाने से पहरेज करना चाहिए ,क्योंकि फलों में एसिड विद्यमान होता है ।जो जो छालों में जलन को और बढ़ा देगे। चेचक के रोगी को तत्काल रुप से इलाज कराना चाहिए ,नहीं तो दर्द और भी बढ़ जाएगा।

2)मीट एवं कुछ अतिरिक्त खाद्य पदार्थ सैचुरेटेड फैट से भरपूर होते हैं ।जैसे डेयरी में उपलब्ध प्रोडक्ट । चेचक रोगी को  इस रोग के दौरान   ब्रेड, केक नहीं खाना चाहिए। इससे रोगी की परेशानी और भी बढ़ जाती है।

3)चेचक के रोगी को मसालेदार एवं अधिक मात्रा में नमक वाले पदार्थों को खाने से बचना चाहिए। अधिक नमक एवं मसालेदार भोज्य पदार्थ रोगी के मुंह में जलन उत्पन्न कर देते हैं।

4)अर्जीनाइन एक विशेष प्रकार का अमीनो एसिड होता है। यह वायरस की संख्या में अभिवृद्धि करता है। इसके सेवन से वायरस की संख्या में अभिवृद्धि होती है। अतः रोगी को पूर्ण रूप से स्वस्थ होने में सामान्य की अपेक्षा और अधिक समय लग जाता है ।इनमें कुछ खाद्य पदार्थ है जैसे चॉकलेट, मूंगफली, ट्री नट्स, बीज, पीनट बटर, किशमिश इत्यादि

Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here