Documents

फास्टटैग क्या है

फास्टटैग क्या है

इस आलेख में फास्टैग ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन,Fastag Online Registration,फास्टटैग क्या है ?,फास्टैग की वैधता,यहाँ से ख़रीदे फास्टैग,फास्ट टैग शुरू करने के फायदे, FASTag के लिए आवेदन कैसे करें ,फास्टटैग क्या है आदि के बारे में विस्तार से बताया गया हैं |

फास्टैग ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन  :- भारत में बहुत बड़े-बड़े राजमार्ग बने हुए हैं जिन पर दिन प्रतिदिन वाहनों की आवाजाही की संख्या बढ़ती जा रही है। अब इतने बड़े पैमाने पर जब वाहनों की आवाजाही होगी तो उस पर निगरानी रखना भारत सरकार के लिए दिन प्रतिदिन कठिन होता जा रहा है।केंद्रीय सरकार द्वारा परिवहन नियम में बदलाव करने हुए देश में 1 दिसंबर 2019 से वाहनों के परिचालन के लिए फास्ट टैग अनिवार्य कर दिया दिया है। लोगो की सुविधा के लिए सरकार ने फ़ास्टैग बनवाने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन सेवा शुरू कर दी है जिसमे माध्यम से आप फ़ास्टैग के लिए आवेदन कर सकते है। नियम के अनुसार यदि आप के पास वाहन है और फ़ास्ट टैग नहीं लगवाते है तो आपको दोगुना टोल टैक्स देना पड़ सकता है।

फास्टटैग क्या है :- फास्ट टैग एक ऐसा डिजिटल टैग है जिसे वाहन मालिकों के लिए भारतीय सरकार द्वारा जारी किया जाएगा। उस जारी किए गए टैग को वाहन के आगे की ओर लगा दिया जाएगा। जिस तरह से आप अपना मोबाइल रिचार्ज करते हैं ठीक उसी तरह से आपको यह फास्ट टैग भी रिचार्ज करना होगा ताकि आप इसके जरिए अपने वाहन पर लगने वाला टोल टैक्स का भुगतान कर सके। इस फास्ट टैग कार्ड का सबसे प्रमुख फायदा वाहन चालकों को होगा क्योंकि उन्हें इस कार्ड के बनने के बाद टोल भरने के लिए टोल केंद्रों पर रुकना नहीं पड़ेगा। इन कार्डो में एक ऐसा सेंसर लगाया जाएगा जिससे आप एक विशिष्ट लाइन में जाकर अपने वाहन के कार्ड को सेंसर के द्वारा चेक करा सकते हैं और सीधे ही अपना टोल कटवा सकते हैं। फास्ट टैग कार्ड के जरिए सीधे ही वाहन के मालिक के अकाउंट से टोल की राशि को काट लिया जाएगा। यदि आपके पास एक से अधिक वाहन है तो उसके लिए आपको ऑटोमोबाइल के जरिए अलग अलग वाहन के लिए अलग-अलग फास्ट टैग कार्ड प्राप्त करना होगा। यदि आपके फास्ट टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाती है, तो इसे आपको दोबारा से रिचार्ज करना होगा. इस टैग की वैधता 5 वर्ष होती है, यानी कि आपको 5 वर्ष बाद इसे अपने गाड़ी पर दोबारा से लगवाना होगा.

फास्टैग की वैधता :-
फास्टैग की वैधता 5 वर्ष तक की होगी, अर्थात पांच वर्ष बाद आपको नया फास्टैग अपनी गाड़ी पर लगवाना होगा|

वाहन टैग                                                                      कलर टैग                                              डिपाजिट फीस( रू)
कार / जीपी / वैन                                                         वायलेट                                                 200
मिनी लाइट कमर्शियल व्हीकल                                      वायलेट                                                200
लाइट कमर्शियल व्हीकल / मिनी बस                             ऑरेंज                                                 300
बस 3 एक्सल                                                                 येलो (पीला)                                         400
ट्रक 3 एक्सल                                                                येलो (पीला)                                          500
ट्रेक्टर / ट्रेक्टर विथ ट्रेलर/ ट्रक 4/5/6 एक्सल               पिंक                                                     500
बस 2 एक्सल/ट्रक 2एक्सल                                           ग्रीन                                                      400
ट्रक 7 एक्सल और उससे ज्यादा एक्सल के                     ब्लू                                                        500
अर्थ मूविंग / हैवी कंस्ट्रक्शन मशीनरी                             ब्लैक                                                     500

ये भी पढ़े :-

यहाँ से ख़रीदे फास्टैग:-अपने वाहन के लिए फास्टैग खरीदना काफी आसान है| नई गाड़ी खरीदते समय ही डीलर से आप फास्टैग प्राप्त कर सकते हैं. वहीं, पुरानी वाहनों के लिए इसे नेशनल हाईवे के प्वाइंट ऑफ सेल से खरीदा जा सकता है| इसके अलावा फास्टैग को प्राइवेट सेक्टर के बैंकों से भी खरीद सकते हैं| इनका टाइअप नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया से होता है| इनमें सिंडिकेट बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीएफसी बैंक, एचडीएफसी बैंक, एसबीआई बैंक, और आईसीआई बैंक से प्राप्त कर सकते है. आप चाहें तो Paytm से भी फास्टैग खरीद सकते हैं|
1.)भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से संचालित टोल प्लाजा।
2.)एसबीआई, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई समेत कई बैंक।
3.)ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पेटीएम, अमेजन डॉट कॉम।
4.)इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम के पेट्रोल पंप।
5.)नेशनल हाईवे अथॉरिटी की माई फास्ट ऐप।

फास्ट टैग शुरू करने के फायदे :-
1.)इस योजना के तहत सरकार द्वारा सभी वाहनों पर उचित टोल की राशि प्राप्त की जा सकती है जिससे देश का राजस्व दिन प्रतिदिन दुगना चोगुना होता जाएगा। साथ ही इसके जरिए आसानी से टोल संग्रहण पर निगरानी भी रखी जा सकती है।
2.)वाहन चालकों को फास्टैग कार्ड की ओर आकर्षित करने के लिए उन्होंने कई सारे कैशबैक ऑफर्स भी रखे हुए हैं ताकि लोग इसकी तरफ आकर्षित हो और अपने वाहनों को फास्ट टैग कार्ड के अंतर्गत पंजीकृत करा लें।
3.)इस कार्ड के जरिए राजमार्ग पर आवाजाही करने वाले प्रत्येक वाहन का पूरा लेखा-जोखा रखने में आसानी होगी क्योंकि डिजिटल रूप से अपने आप ही टोल नाका पार करने वाले वाहनों की संपूर्ण जानकारी लिखित रूप से दर्ज हो जाएगी।
4.)यदि आप टोल नाके पर अपने सेंसर कार्ड से राशि का भुगतान कर चुके हैं तो तुरंत आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर उसकी सूचना भेज दी जाती है जिससे आपको भुगतान की गई राशि का पूरा ब्यौरा लिखित रूप में मिल जाता है।
5.)सरकार द्वारा फास्ट टैग ऐप भी लांच की गई है जिसकी सहायता से वाहन के मालिक अपने कार्ड का पूरा रिकॉर्ड अपने पास रख सकते हैं और साथ ही उसकी मदद से अपने कार्ड को रिचार्ज भी कर सकते हैं। इस ऐप के जरिए वाहन को ट्रैक करने में भी आसानी होती है।
6.)सरकार द्वारा वाहन के मालिकों को प्रोत्साहित करने के लिए 1 दिसंबर 2019 तक के लिए निशुल्क पंजीकरण की सुविधा दी गई है। यदि आप फास्ट टैग कार्ड के अंतर्गत अपने वाहन को रजिस्टर कराना चाहते हैं तो एक दिसंबर 2019 से पहले करा सकते हैं क्योंकि वह बिल्कुल निशुल्क है।

FASTag के लिए आवेदन कैसे करें ?:-
1.)वाहन मालिक आधिकारिक FASTag पोर्टल पर लिंक पर क्लिक करके लॉग इन कर सकते हैं। यह वेबसाइट इस योजना के बारे में पूरा विवरण प्रदान करती है।
2.)इस साइट के जरिए कार के मालिक को अपनी इच्छा अनुसार बैंक का चयन करने का ऑप्शन भी मिलता है वह उस बैंक को चुन सकता है जिस बैंक से वह अपना फास्टटेक कार्ड लिंक कराना चाहता है।
3.)जब आप इस वेबसाइट के जरिए पूरी तरह से अपना आवेदन भर देंगे तो वह आपको फास्टैग कार्ड प्राप्त करने के सभी निर्देश जारी कर देगा।
4.)आवेदक को नामांकन दस्तावेजों को डाउनलोड करके उन दस्तावेजों का एक प्रिंट आउट प्राप्त कर लेना होगा।
5.)आपको फॉर्म भरने और आवश्यक दस्तावेजों को जुटाने के बाद उन सभी दस्तावेजों को अपनी बैंक शाखा में जमा कराना होगा।।
6.)बैंक आपके नाम पर एक रसीद जारी करेगा। वह उस रस्सी को आपको दे देगा ताकि आप उसके जरिए फास्ट टैग कार्ड को लिंक कर सके।
7.)वाहन को POS बूथ पर ले जाकर वाहन की रसीद को प्राप्त करना चाहिए और उसके जरिए आप फास्ट टैग कार्ड प्राप्त कर सकते हैं।फास्टटैग क्या है

यह भी पढ़े :-

 

Leave a Comment