IT Tips Mobile Tips Technology

iOS Kya Hai , iOS Full Form in Hindi

iOS Kya Hai
आजकल सभी लोग स्मार्टफोन का प्रयोग करते है। सभी लोग एंडरिऑड मोबाइल का ही इस्तेमाल करते है। इसका पूरा नाम ऑपरेटिंग सिस्टम होता है। जो एप्पल मोबाइल फोन में ही होता है। मोबाइल फ़ोन की दुनिया मे सबसे ज्यादा हलचल एप्पल के स्मार्टफोन ने ही की है।यह एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है, जो एप्पल के सभी गैजेट्स में प्रयोग किये जाते है। iOS से पहले एप्पल वालो ने OS सिस्टम बनाया था। जो सभी प्रोग्रामो में सही से वर्क नही कर पाया था। इसलिए फिर iOS का नया अपडेट लाया गया था।iOS Kya Hai , iOS Full Form in Hindi
iOS Kya Hota Hai:- एप्पल कंपनी का फ़ोन आपरेटिंग सिस्टम है। जो सिर्फ iphone, ipad, ipod touch डिवाइस मे ही होता है। इस सॉफ्टवेयर की मदद से आप अपने फोन की डिवाइस को मैनेज कर सकते हैं। इसकी मदद से डिवाइस को स्वाइप और पेज को आसानी से मूव कराने में आसानी होती है, और किसी फ़ोटो को उंगलियों के माध्यम से ज़ूम करके भी देख सकते है।
आपको बता दे की एप्पल की एप्प स्टोर 2 मिलियन से ज्यादा की है, जिनमे बहुत सारे एप्प्स है। गूगल के प्ले स्टोर के बाद दूसरे नंबर पर एप्पल का ही प्ले स्टोर आता है, यह बहुत फेमस प्ले स्टोर बन चुका है। OS वर्जन के बारे में सबसे पहले स्टीव जॉब्स ने 2007 में बताया था। लेकिन 2011 में एप्पल कंपनी ने इस नाम को बदलकर iOS कर दिया था।
iOS Full Form:-Mobile Operating System
iOS Full Form in Hindi:- मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम
iOS Version:- अभी तक इसके 12 से अधिक वर्जन आ चुके हैं। सबसे पहला वर्जन 2007 में आया था, इसके टच सेंट्रिक सिस्टम के बारे में बताया था। जब यह लांच हुआ तो बहुत से लोगो ने कहा की यह तो डेस्कटॉप की तरह ही ऑपरेट करता है।
1. एप्पल iOS 1.x. (2007)
2. एप्पल iOS 2.x (2008)
3. एप्पल iOS 3.x (2009)
4. एप्पल iOS 4.x (2010)
5. एप्पल iOS 5.x (2011)
6. एप्पल iOS 6.x (2012)
7. एप्पल iOS 7.x (2013)
8. एप्पल iOS 8.x (2014)
9.एप्पल iOS 9.x (2015)
10. एप्पल iOS 10.x (2016)
11. iOS 11 (2017)
12.iOS 12 (2018)
आपरेटिंग सिस्टम को अगर हम सरल भाषा मे समझे तो जो हमारे स्मार्टफोन के एप्लीकेशन को हैंडल करता है। यह उन अप्प को परमिशन देता है, जो डिवाइस के फीचर्स कहते हैं। यहां पर सभी ऐप्स प्रोटेक्ट रहते हैं। मार्केट में ऐसे बहुत सारे ऐप्स है जो फेक हैं उनको यह परमिशन नहीं देता है। अलग-अलग सेल में रखने से कोई भी वायरस इनको इंपैक्ट नहीं कर पाता है। जिससे यह सभी ऐप सुरक्षित रहते हैं।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page