वंदे भारत एक्सप्रेस क्या हैं | जानिए क्या खास हैं वंदे भारत एक्सप्रेस में | Vande Bharat Express Train

0

वंदे भारत एक्सप्रेस क्या हैं ?,जानिए क्या खास हैं वंदे भारत एक्सप्रेस में,वंदे भारत एक्सप्रेस का रूट,वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का किराया,Vande Bharat Express Train,वंदे भारत एक्सप्रेस,वंदे भारत एक्सप्रेस delhi to katra,वंदे भारत एक्सप्रेस fare,वंदे भारत एक्सप्रेस no,वंदे भारत एक्सप्रेस speed,वंदे भारत एक्सप्रेस कहां है,वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन,वंदे भारत एक्सप्रेस का किराया,वंदे भारत एक्सप्रेस का किराया कितना है,वंदे भारत एक्सप्रेस का गाड़ी नंबर,वंदे भारत एक्सप्रेस का टाइम टेबल,वंदे भारत एक्सप्रेस का नंबर,वंदे भारत एक्सप्रेस का रूट

नवरात्रि के उपलक्ष्य में सरकार का  तोहफा, 3 अक्टूबर से दिल्ली-कटरा के बीच चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस:-

वंदे भारत एक्सप्रेस क्या हैं ?:-
मोदी सरकार ने देश की सबसे तेज रफ्तार से चलने वाली वंदे भारत ट्रेन दिल्ली- कटड़ा के बीच की दूरी तय करने के लिए तैयार है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन गुरुवार अक्तूबर यानी को दिल्ली से ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर माता वैष्णो देवी के लिए रवाना करेंगे। हालांकि यात्रियों के लिए यह ट्रेन 5 अक्तूबर से मंगलवार को छोड़ कर सप्ताह में छह दिन चलेगी। इसमें यात्री दिल्ली से कटड़ा तक का सफर मात्र आठ घंटे में पूर कर पाएंगे। रेल यात्रियों को सुरक्षा-संरक्षा के साथ तेज सफर मुहैया कराने के लिए चालू वित्तीय वर्ष यानी मार्च 2020 तक 10 वंदे भारत एक्सप्रेस (ट्रेन-18) चलाने की योजना है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट में रोलिंग स्टॉक के लिए दो साल पहले की अपेक्षाकृत निवेश की राशि चार गुना कर दी है। बजट में विशेष रूप से वंदे भारत का जिक्र करते हुए और अधिक ट्रेन चलाने की बात कही है।
वंदे भारत एक्सप्रेस
जानिए क्या खास हैं वंदे भारत एक्सप्रेस में :-
1.)शीशे पर नहीं होगा पत्थर का असर:-पहली वंदे भारत ट्रेन जब ट्रैक पर उतरी थी तो पत्थरबाजों ने कई बार इसे निशाना बनाया। शकूरबस्ती रेल शेड से निकलते ही इस ट्रेन को निशाना बना लिया जाता था। कई बार चलती ट्रेन पर भी पत्थर फेंका गया, जिससे विंडो का शीशा क्षतिग्रस्त हो जाता था। इसे ध्यान में रखकर इस बार विंडो के शीशे को मजबूती दी गई है। अब पत्थर फेंके जाने का असर इस पर नहीं पड़ेगा और यात्री भी बिना डर के यात्रा कर सकेंगे।

ये भी पढ़े :-

राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना

राजस्थान देवनारायण छात्रा स्कूटी वितरण योजना

Berojgari Bhatta Form Rajasthan 

2.)जानवरों के ट्रैक पर आने से नहीं होगी क्षतिग्रस्त:-ट्रैक पर फेंसिंग नहीं होने के कारण तेज रफ्तार से चलने वाली ट्रेनों से जानवर अक्सर मारे जाते हैं। इससे ट्रेन को भी क्षति पहुंचती है। इसे ध्यान में रखकर ट्रेन को इस तरह तैयार किया गया है कि जानवर ट्रेन के भीतर नहीं फंसे। जानवर जैसे ही ट्रेन से टकराएगा तो सेफ गार्ड उसे ट्रैक से अलग फेंक देगा। हालांकि जानवर झुंड में हुए तो परेशानी हो सकती है।

3.)पेंट्री के लिए जगह का भी है इंतजाम:-पहली वंदे भारत में पेंट्री की सुविधा नहीं होने से खाना परोसने में परेशानी हो रही थी। दिल्ली-कटड़ा के बीच चलने वाली दूसरी वंदे भारत ट्रेन में अलग से पेंट्री के लिए जगह की व्यवस्था की गई है। विमान की तर्ज पर खाने को गर्म करने की व्यवस्था होगी। आइसक्रीम रखने की भी अलग से व्यवस्था है।

4.)स्टाफ के लिए डिजाइन की गई है ड्रेस:-ट्रेन का स्टाफ डिजाइनर ड्रेस में दिखेगा। मशहूर फैशन डिजाइनर रितु बेरी के डिजाइन किए सूट में स्टाफ यात्रियों के टिकट चेक करेगा और उनका स्वागत करेगा। इस ट्रेन के ड्राइवर को विमान की तरह ही कैप्टन कहा जाएगा। खाना परोसने वाले परिचारक भी एक जैसी ड्रेस में दिखेंगे।

5.)सभी कोच में होगा सेंसरयुक्त दरवाजा:-वंदे भारत एक्सप्रेस में ऑटोमेटिक दरवाजा मुख्य गेट पर तो होगा ही, कोच के अंदर भी सेंसरयुक्त गेट होगा। यात्री जैसे ही दरवाजे के समीप पहुंचेंगे, यह स्वत: खुल जाएगा। इसी तरह रीडिंग ग्लास भी सिर्फ छू लेने मात्र से जलेगा और बुझ जाएगा।

ये भी पढ़े :-

Varisth Nagrik Tirth Yatra 2020

मुख्यमंत्री आवास योजना 2020

6.)आरामदायक सीटों की व्यवस्था :-नई वंदे भारत में आरामदायक सीटों की व्यवस्था की गई है। यह सीट 180 डिग्री पर घूम भी सकती है। इसका फायदा यह होगा कि चार लोग एक साथ यात्रा कर रहे तो सीट घुमाकर आमने-सामने बैठ सकेंगे। इस ट्रेन में यात्रियों को सभी आधुनिक सुविधाएं मिलेंगी। ट्रेन के 16 कोच में 14 चेयर कार और 2 एग्जीक्यूटिव क्लास चेयर कार कोच होंगे। चेयर कार कोच में 78 कुर्सियां हैं। एग्जीक्यूटिव क्लास में 52 यात्री सफर करेंगे।

वंदे भारत एक्सप्रेस का रूट :-
वंदे भारत एक्सप्रेस को दिल्ली-अमृतसर, दिल्ली-लखनऊ, दिल्ली-इलाहाबाद, दिल्ली-जयपुर, कोलकाता-रांची, कोलकाता-पटना, कोलकता-भुवनेश्वर, मुंबई-अहमदाबाद, चेन्नई-बेंगलुरु आदि रूटों पर चलाने की योजना है।ट्रेन नई दिल्ली स्टेशन से सुबह 6 बजे चलेगी। अंबाला स्टेशन पर यह 8:10 बजे पहुंचेगी। इसके बाद 9:19 बजे लुधियाना, 12:38 बजे जम्मू और दोपहर दो बजे कटड़ा स्टेशन पर पहुंचेगी। वापसी दिशा में कटड़ा से ट्रेन तीन बजे चलेगी। शाम 4:13 बजे यह जम्मू, 7:32 बजे लुधियाना, रात 8:48 बजे अंबाला कैंट पहुंचेगी। नई दिल्ली स्टेशन पर ट्रेन रात के 11 बजे पहुंच जाएगी। ट्रेन हर स्टेशन पर महज दो मिनट के लिए ही रुकेगी।

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का किराया:-
वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में 16 कार (कोच) लगे हैं और इसमें बैठने के लिए 1128 सीट हैं। इसमें सामान्य चेयर कार के 14 डब्बे लगे हैं, जिनमें 936 सीट हैं जबकि 2 एक्जिक्यूटिव चेयर कार में 104 सीट हैं। नई दिल्ली से कटरा तक का चेयर कार का किराया करीब 1,600 रुपए है जबकि एक्जिक्यूटिव चेयर कार का किराया करीब 3,000 रुपए रखा गया है।

यह भी जाने :-
Caste Certificate के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

ऑनलाइन वोटर आई डी कार्ड डाउनलोड कैसे कर

आय प्रमाण पत्र online apply

राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना

Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here