Banking Tips Tech News

CIBIL Score क्या है , सिबिल स्कोर कैसे चेक करें

Join Telegram Channel Now

दोस्तो आजकल बहुत से ऐसे व्यक्ति होते है जो पूजी लगाकर एक बहुत बढ़िया व्यापार बना देते है। लेकिन कुछ ऐसे भी होते जिनके पास किसी कारोबार को शुरू करने के लिए रुपये नही होते है। जीससे वह अपना धंधा शुरू नही कर पाते है। लेकिन अब सरकार की बहुत से योजना आ चुकी है। व्यक्ति बैंक में जाकर लोन ले सकता है। CIBIL Score क्या है , सिबिल स्कोर चेक ऑनलाइन फ्री , क्रेडिट स्कोर , Credit Score Check , Cibil Check by Pan Number , सिबिल स्कोर खराब है तो चिंता नहीं, ऐसे मिलेगा पर्सनल लोन , सिबिल डिफाल्टर लिस्ट ,cibil score kaise check karte hain

लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेजो को बैंक में जाकर जमा कर दे। सबसे बड़ी बात वो भी कम ब्याज दर पर आपको लोन देने की योजना सरकार ने लागू की हुई है। इसके अलावा अन्य पात्रताये भी होनी जरूरी है। लेकिन क्या आपको पता है बैंक के लोन के लिए सबसे जरूरी बात की आपका सिबिल स्कोर अच्छा होगा तो ही बैंक लोन देगी अन्यथा नही।

CIBIL Score क्या है:-  सिबिल स्कोर एक 3 अंको से बनी हुई संख्या है। बैंक सिबिल स्कोर के आधार पर एक रिपोर्ट को तैयार करवाती है। इसको आप सिबिल रिपोर्ट भी कह सकते है। आपके खाते विवरण से क्रेडिट हिस्ट्री को तैयार करते है। सिबिल स्कोर कर्ज़ लेने की पात्रता को दिखाता है। इससे पहले किसी व्यक्ति ने लोन लिया है तो उसके लौटने की क्षमता को देखते हुए Last Record को बनाया जाता है।

लोन मिलने की दशा में आपका सिविल स्कोर भी अच्छा होना चाहिए और सिबिल की रेंज आपकी 300 से 900 के बीच में है तो यह बहुत ही अच्छा सिविल स्कोर माना जाता है। आपको लोन मिलने की संभावना अधिक बढ़ जाती है।

सिबिल स्कोर को कैसे चेक करे:- 

सिबिल स्कोर की जांच आप वेबसाइट के द्वारा कर सकते है।

• सिबिल स्कोर स्कोर को जांचने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट https://www.cibil.com पर जाना होगा।

• आप आपके सामने एक पेज खुल जाएगा जिसमें आपसे कुछ जानकारी मांगेगा वह सही-सही डालकर सम्मिट के ऑप्शन पर क्लिक करें।

• सिबिल सिक्योर को जांचने के लिए फीस भी लगती है अगर आप इसको पता करना चाहते हैं तो सबसे पहले फीस जमा करनी होगी

• शीश कटने के उपरांत यह वेबसाइट आपके जीमेल आईडी पर सिबिल स्कोर की जानकारी भेज देगा।

सिबिल स्कोर को कैसे कैलकुलेट कर सकते है:- किसी भी लोन के बारे में बार-बार पूछताछ करना या करवाना इससे आपका शरीर उसको खराब हो जाता है और बाद में लोन का बोझ भी बढ़ जाता है लोन के बारे में किसी बात पर ज्यादा चर्चा नहीं करनी चाहिए इससे लोन के वजन बढ़ जाने की संभावना अधिक हो जाती है।

1.) पेमेंट हिस्ट्री:- इससे पहले यदि किसी व्यक्ति ने लोन लिया है तो उसके ईएमआई लौट आने का समय देखा जाता है कि उसने एक दिए गए समय में ही उस राशि को वापस किया है या नहीं इससे भी सिविल स्कोर पर प्रभाव पड़ता है। बैंक लोन देने से पहले आप के खाते के बारे में पूरी जानकारी निकाल लेती है तभी लोन देने के लिए हां कहती है। वह भी अगर आपका सिविल इसको अच्छा है तो।

2.) हाई क्रेडिट यूटिलाइजेशन:- इसका मतलब यह होता है कि आप समय से पहले लोन ना चुका पाए तो इसके साथ ही कर्ज भी बढ़ने लगेगा। इसका सिविल स्कोर पर अच्छा असर नही होता है।

3.) क्रेडिट मिक्स:-  अनसिक्योर्ड और सिक्योर्ड लोआन से आपको किसी भी प्रकार से सिविल स्कोर पर कोई प्रभाव नही पड़ता है।

सिविल स्कोर को कैसे सुधारें:-

• अपने बैंक खाते से संबंधित सभी बकाया बिलो को सही समय पर भुगतान करते रहें।

• लेट किया हुए पेमेंट्स को बैंक अच्छा नही मानता है।

• जिस खाते में लोन लेने जा रहे हैं उसमें अगर किसी भी प्रकार का लोन( जो पहले से लिया गया हो) सही समय पर नहीं चुकाया है तो उसको सही करें इससे आपका सिविल इसको बढ़ जाएगा और लोन मिलने की संभावनाएं अधिक हो जाएंगी।

• सबसे जरूरी बात क्रेडिट का ज्यादा इस्तेमाल ना करें

• अगर आपके खाते ज्वाइंट खाते हैं तो अपने पार्टनर के ऊपर खाते से संबंधित जानकारी पर नजर रखें।

• ज्वाइंट अकाउंट में रहने वाले पार्टनरशिप अगर कुछ भी गलती करते हैं तो इससे सिविक्स को कम हो जाएगा और लोन लेने के लिए फिर काफी मशक्कत करनी पड़ेगी

Important Link 
Join Our Telegram Channel 
Follow Google News
PhonePe App Download : जाने इस आसान तरीके से आप कमा सकते है हर दिन 300 रुपये

Leave a Comment