LIC Sarkari Yojana

LIC Jeevan Lakshya Plan Policy Features & Benefits

LIC Jeevan Lakshya Plan
एलआईसी का यह प्लान न्यू एंडोमेंट सीमित प्रीमियम नॉन लिंक्ड प्लान है। इस प्लान को कन्यादान पॉलिसी के नाम से भी जाना जाता है। यह प्लान कन्यादान पॉलिसी के नाम से खूब प्रचलित हुआ है। सीमित प्रीमियम भुगतान योजना का यह प्लान कम समय तक प्रीमियम जमा करके अधिक समय तक रिस्क कवर उपलब्ध करवाता है। यह प्लांट भारत में खूब प्रचलित हुआ है और बहुत अधिक संख्या में बिका है। आज हम इस आर्टिकल में जीवन लक्ष्य प्लान Lic Jeevan Lakshya Plan , Lic Jeevan Lakshya Plan Policy Features & Benefits , Lic Jeevan Lakshya in Hindi , Lic Jeevan Lakshya Calculator , Jeevan Lakshya Review , Jeevan Lakshya Agent Commission , Jeevan Lakshya 933 , Jeevan Lakshya 933 Premium Calculator , Jeevan Lakshya 933 Calculator , Lic Jeevan Lakshya 933 Maturity Calculator के बारे में बात करेंगे।
Jeevan Lakshya :- एलआईसी का यह सीमित प्रीमियम non-linked प्लान जो टेबल नंबर 933 के नाम से प्रचलित है। इसका दूसरा नाम कन्यादान पॉलिसी भी है। इस प्लान में पॉलिसी अवधि और प्रीमियम भुगतान अवधि अलग अलग है। हालांकि इस प्लान के अंतर्गत आप अपने मनचाही पॉलिसी अवधि न्यूनतम 13 वर्ष से लेकर अधिकतम 25 वर्ष के बीच select कर सकते हैं। लेकिन आपके द्वारा निर्धारित की गई और इसी अवधि से 3 वर्ष कम प्रीमियम भुगतान अवधि होगी। मतलब यह है, कि यदि आप 20 वर्ष की पॉलिसी अवधि सेलेक्ट करते हैं तो आपके पॉलिसी की प्रीमियम भुगतान अवधि 17 वर्ष की होगी।
इस पॉलिसी के लिए न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 50 वर्ष जरूरी है।  हमने बाकी पॉलिसियों में देखा की पॉलिसी की परिपक्वता अवधि व्यक्ति के 75 वर्ष होने तक पूरी होनी चाहिए। लेकिन इस प्लान के अंतर्गत व्यक्ति की 65 वर्ष उम्र होने तक पॉलिसी परिपक्व होना जरूरी है। इस पॉलिसी को खरीदने के लिए आप को न्यूनतम ₹100000 की बीमा राशि का चयन करना होगा। इससे अधिक बीमा धन लेना चाहते हैं तो अधिकतम बीमा धन की कोई सीमा नहीं है।
 इस प्लान के अंतर्गत आपको दुर्घटना मृत्यु लाभ और विकलांगता लक्ष्य लाभ राइडर उपलब्ध करवाया जाता है। जिसे आप पॉलिसी लेते समय खरीद सकते हैं। साथ ही साथ इस प्लान में एक टर्म इंश्योरेंस राइडर भी उपलब्ध करवाया जाता है। जिससे आपको इस पॉलिसी के अंतर्गत और फायदा हो सके।  इस पॉलिसी का सबसे अधिक फायदा प्रीमियम वाइड बेनिफिट खरीदने पर मिलता है और इसीलिए इस पॉलिसी का नाम कन्यादान पॉलिसी रखा गया है। यदि कोई व्यक्ति इस पॉलिसी के अंतर्गत प्रीमियम वाइड बेनिफिट खरीदता है।
तो उस व्यक्ति के नहीं होने की स्थिति में बाकी बचे सारे प्रीमियम एलआईसी की तरफ से माफ किए जाएंगे। यदि व्यक्ति उत्तराधिकारी के तौर पर अपनी बच्ची या बच्चे को रखता है। जो नाबालिक है, तो 18 वर्ष तक पॉलिसी बीमा धन का 10% उत्तराधिकारी को पढ़ाई के खर्चे के लिए देगी। इसके साथ ही बीमा धारक की मृत्यु मृत्यु लाभ के उत्तराधिकारी को मिलेगा और पॉलिसी सुव्यवस्थित रुप से चालू रहेगी। अंत में परिपक्वता लाभ उत्तराधिकारी को दिया जाएगा।
इस पॉलिसी मैं प्रीमियम भरने पर डेढ़ लाख तक टैक्स बेनिफिट धारा 80 सी के अंतर्गत दिया जाएगा। इसके अलावा धारा 10d के अंतर्गत टैक्स बेनिफिट मिलेगा।
Jeevan Lakshya maturity & death calculator:-  एलआईसी का यह प्लान अन्य प्लान की तुलना में थोड़ा अलग है और इसीलिए यह प्लान काफी चर्चित भी है। क्योंकि इस प्लान में बीमा धारक के होने और ना होने दोनों स्थिति में जबरदस्त फायदा एलआईसी द्वारा प्रदान किया जाता है। यदि व्यक्ति की मृत्यु पॉलिसी अवधि के दौरान हो जाती है। तो बीमा राशि का 10% पॉलिसी मैच्योर होने के 1 वर्ष पहले तक उत्तराधिकारी को दिया जाता है।  उसके पश्चात बीमा राशि का 110% + निहित साधारण प्रत्यावर्ती बोनस और अंतिम एडिशनल बोनस जोड़कर परिपक्वता लाभ उत्तराधिकारी को प्रदान करवाया जाता है।
यदि पॉलिसी धारक की पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु नहीं होती है। तो बीमा धन का 110% + अतिरिक्त रिवर्सनरी बोनस + एडिशनल बोनस सभी को जोड़ कर दिया जाता है। इस पॉलिसी के अंतर्गत रिवर्सनरी बोनस और एडिशनल बोनस ₹49 प्रति हजार के हिसाब से कैलकुलेट किए जाते हैं।
LIC Jeevan Lakshya Plan premium calculator:-  यदि कोई व्यक्ति एलआईसी का यह प्लान जीवन लक्ष्य खरीदना चाहता है। तो उसके लिए उम्र और पॉलिसी अवधि के आधार पर प्रीमियम कैलकुलेट किया जाता है।  उदाहरण के तौर पर एक 21 वर्ष का व्यक्ति 21 वर्ष की पॉलिसी अवधि और ₹100000 बीमा धन लेना चाहता है। तो उसके लिए प्रीमियम ₹5560 प्रतिवर्ष आएगा। मतलब पॉलिसी धारक को 18 वर्षों तक ₹5560 का प्रीमियम भरना होगा और 21 वर्षों के पश्चात पॉलिसी का अनुमानित परिपक्वता लाभ ₹217500 बीमा धारक को दिया जाएगा।
Jeevan Lakshya death claim:-  उदाहरण के तौर पर मान लिया जाए कि पॉलिसी धारक की मृत्यु पॉलिसी लेने के 5 वर्ष बाद हो जाती है। तो ऐसी स्थिति में परिवार को पॉलिसी चालू होने के 6 साल से बीमा धन का 10% हर वर्ष दिया जाएगा। उसके पश्चात पॉलिसी की मैच्योरिटी पर भीमा धन का 110% साथ में प्रत्यावर्ती बोनस और एडिशनल बोनस प्रदान किया जाएगा।
Jeevan Lakshya surrender & loan condition:-  इस पॉलिसी को यदि कोई व्यक्ति बीच में सरेंडर या बंद करवाना चाहता है। तो उसके लिए न्यूनतम 2 वर्ष तक प्रीमियम भरना जरूरी है। उसके पश्चात पॉलिसी धारक द्वारा भरे गए  प्रीमियम का कुछ प्रतिशत हिस्सा काटकर पॉलिसी धारक के खाते में बाकी की राशि ट्रांसफर कर दी जाएगी।  यदि कोई व्यक्ति पॉलिसी पर लोन लेना चाहता है। तो इस स्थिति में भी पॉलिसी धारक को 2 वर्ष तक न्यूनतम प्रीमियम भरना जरूरी है और उसके पश्चात भरे गए प्रीमियम का 90% लोन एलआईसी द्वारा अप्रूव किया जाएगा।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page