Banking Tips Digital Tips

इंटरनेट बैंकिंग क्या है कैसे, फायदे व सावधानियाँ

इंटरनेट बैंकिंग क्या है

दोस्तों वर्तमान समय में भारत देश विकसित हो रहा है, और इसके साथ-साथ भारत में भी टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से बढ़ रही है। जैसे कि आप देखते ही हैं कि आजकल हर कार्य इंटरनेट की मदद से हो रहा है। वैसे ही अब बैंकों ने भी अपने कार्य को ऑनलाइन इंटरनेट की मदद से शुरू कर दिया है। बैंक का कार्य पहले ऑफलाइन हुआ करता था। लेकिन अब हर बैंक ग्राहक चाहता है। कि बैंक का जो भी कार्य हो वह घर पर बैठकर अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर से आसानी से किया जा सके। तो आज हम आपको इस आर्टिकल के अंदर इंटरनेट के जरिए बैंकिंग कैसे की जाती है। यानी कि इंटरनेट बैंकिंग क्या होती है। उसके बारे में विस्तार से बताएंगे इसलिए इस आर्टिकल को What is Internet Banking , net banking in hindi , net banking kaise kare in hindi ,  इंटरनेट बैंकिंग क्या है , नेट बैंकिंग कैसे करे ,जरूर पढ़ें।

इंटरनेट बैंकिंग क्या हैं:-  इंटरनेट बैंकिंग एक वह प्रणाली है। जिसके माध्यम से एक ग्राहक इंटरनेट के द्वारा अपने खाते से पैसों की लेनदेन कर सकता है। ग्राहक यूजर्स वेबसाइट या ऑनलाइन एप्लीकेशन का उपयोग करके अपने बैंक खाते से विभिन्न बैंक के अन्य खातों में अपने पैसे ट्रांसफर कर सकता है। ग्राहक द्वारा पैसों का लेन देन करने के इस माध्यम को इंटरनेट बैंकिंग कहा जाता है। अगर कोई ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग प्रणाली को अपनाना चाहता है। तो उसके पास कंप्यूटर, लैपटॉप या स्मार्टफोन में से एक उपकरण होना आवश्यक है। क्योंकि इस नेट बैंकिंग करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरण की आवश्यकता होती है, और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के माध्यम से ही इंटरनेट बैंकिंग करना संभव होता है।
इंटरनेट बैंकिंग करने के लिए ग्राहक को अपने मूल बैंक शाखा पर जाने की आवश्यकता नहीं होती है। यह कार्य आप अपनी सुविधा अनुसार कर सकते हैं। जैसे :- घर, ऑफिस या फिर कहीं भी।
इंटरनेट बैंकिंग करने के लिए आपके पास कंप्यूटर या फिर कोई अन्य डिवाइस के साथ इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है, और साथ ही बैंक का डेबिट कार्ड की भी आवश्यकता होती है। इंटरनेट बैंकिंग की सेवा प्राप्त करने के लिए ग्राहक को अपने बैंक के नेट बैंकिंग में पंजीकरण करना होता है। जब ग्राहक अपने बैंक से इंटरनेट बैंकिंग बना लेता है। तब उसे उस इंटरनेट बैंकिंग का एक पासवर्ड बनाना होता है, और एक बार यह सब हो जाने के बाद आप इस सेवा का उपयोग सभी बैंकिंग के लिए कर सकते हैं।
इंटरनेट बैंकिंग की विशेषताएं:-  इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग हर ग्राहक अपने लेनदेन के लिए करना चाहता है। लेकिन इंटरनेट बैंकिंग की क्या-क्या मुख्य विशेषताएं है। उसके बारे में भी जान लेना चाहिए।
• इंटरनेट बैंकिंग से ग्राहक अपने खाते का विवरण देख सकता है।
• ग्राहक अपने बैंक की निश्चित अवधि के अनुसार लेनदेन की गई हिस्ट्री को भी देख सकता है।
• इंटरनेट बैंकिंग से बैंक स्टेटमेंट, विभिन्न प्रकार के फॉर्म और एप्लीकेशन डाउनलोड किए जा सकते हैं।
• इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से ग्राहक बिजली बिल, मोबाइल रिचार्ज, डीटीएच कनेक्शन रिचार्ज आदि का भुगतान कर सकता है।
• नेट बैंकिंग के माध्यम से ग्राहक किसी भी इकॉमर्स प्लेटफार्म से शॉपिंग कर सकता है।
• नेट बैंकिंग के जरिए ग्राहकों परिवहन, यात्रा पैकेज, और मेडिकल पैकेज को भी बुक कर सकता है।
इंटरनेट बैंकिंग के लाभ:-  इंटरनेट बैंकिंग वर्तमान समय में काफी पॉपुलर हो चुका है। और काफी ज्यादा संख्या में इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग भी किया जा रहा है। इसीलिए अगर आप इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करना चाहते हैं। तो इंटरनेट बैंकिंग के लाभ के बारे में अवश्य जान ले।
• इंटरनेट बैंकिंग के जरिए ग्राहकों को हर समय और हर स्थान पर संपूर्ण सुविधाएं मिलती है।
• इंटरनेट बैंकिंग से लेनदेन सुरक्षित होती है।
• सबसे तेज पैसा ट्रांसफर हो करने में इंटरनेट बैंकिंग सक्षम है।
• इंटरनेट बैंकिंग से ग्राहक का समय बचता है।
इंटरनेट बैंकिंग से पैसा स्थलांतरित करने पर तुरंत अपने रजिस्टर मोबाइल नंबर पर संदेश भेजा जाता है। इससे अपने खाते की निगरानी की जा सकती है।
• इंटरनेट बैंकिंग से बैंक के सभी कार्यों को डिजिटल तरीकों से किया जा सकता है। जैसे :- बैंक का बैलेंस चेक करना, स्टेटमेंट, पैसा स्थानांतरित करना, फिक्स डिपोजिट खुलवाना और बंद करवाना आदि।
इन्टरनेट बैंकिंग के नुकसान:-  जो भी कार्य होता है उसके फायदे तो अवश्य होते हैं, लेकिन उस कार्य में थोड़ा बहुत नुकसान भी होता है। तो इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करने से पहले इसके नुकसान के बारे में अवश्य जान लें। इंटरनेट बैंकिंग नेटवर्क के अनुसार चलती है, और जब इंटरनेट बैंकिंग कि जरूरत होती है, और उस समय सर्वर डाउन हो जाए। तो आप इसमें कार्य नहीं कर सकते हैं, और कई बार जब आप पैसों का लेनदेन करते हैं। उस वक्त सरवर डाउन हो जाता है। जिससे आपको बहुत बड़ा नुकसान भी हो सकता है।
अगर किसी भी अनजान व्यक्ति के पास आपके इंटरनेट बैंकिंग अकाउंट की पर्सनल जानकारी पहुंच जाए। तो वह आपके बैंक खाते में उपलब्ध राशि को निकाल सकता है। जिससे आपको काफी बड़ा नुकसान हो सकता है। नेट बैंकिंग इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के माध्यम से होती है, और इस बैकिंग को करने के लिए आपको बैंक की शाखा में जाने की आवश्यकता नहीं होती है। इसी कारण व्यक्ति ज्यादा आलसी हो रहे हैं। सभी बैंक अपनी इंटरनेट बैंकिंग सेवा का कोई भी चार्ज ना देने का दावा करते हैं, लेकिन वह कई अलग-अलग चार्ज लगाकर इंटरनेट बैंकिंग के चार्ज को वसूलते हैं।
Get 90% OFF On All 1 Year Hosting Plan Buy Now
लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करें Subscribe Now
अब आप  फॉलो को Google News App पर Follow Now
कैसा लगा हमारा ये आलेख, अगर आपको अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर जरूर करें

Leave a Comment

You cannot copy content of this page